WIFI : अब वाईफाई भी सेफ नहीं! आपके स्मार्टफोन से ऐसे हो रहा है डेटा चोरी, बचने के लिए करें ये काम

WIFI। आज के समय में इंटरनेट के बिना हमारे जीवन के बारे में सोचना काफी डरावना है। हम आमतौर पर रिचार्ज प्लान खरीदते हैं जिसमें डेटा शामिल होता है लेकिन बेहतर स्पीड और पैसे बचाने के लिए हम वाईफाई का इस्तेमाल करते हैं। जहां एक तरफ इंटरनेट हमारे कई कामों को सुलझा देता है, वहीं दूसरी तरफ खुद इंटरनेट भी साइबर चोरी का कारण बनता है। आज के समय में हैकर्स वाईफाई के जरिए भी आपके स्मार्टफोन से डेटा चुरा रहे हैं। आइए जानते हैं कि ऐसा कैसे हो रहा है और इससे बचने का क्या उपाय है।

WIFI

WIFI : कई जगहों पर पब्लिक वाईफाई लगा हुआ है, जिसे आप बिना पासवर्ड के इस्तेमाल कर सकते हैं। आपको बता दें कि पब्लिक वाईफाई हैकर्स के लिए चोरी करने का यह एक बहुत ही सामान्य तरीका है।

See also  Corona in India: भारत में बढ़ी कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या, 4 लोगों की मौत

हैकर्स दो तरह से अटैक करते हैं। पहला तरीका मैन इन द मिडल (MITM) अटैक है जिसमें हैकर्स यूजर्स को ठगने और उनका डेटा चुराने के लिए खतरनाक थर्ड पार्टी इंटरसेप्ट का इस्तेमाल करते हैं।

इस दूसरे तरह के अटैक में हैकर्स आसानी से लोगों के फोन में घुस जाते हैं। दरअसल, पैकेट स्नीफिंग अटैक में हैकर्स वाईफाई के जरिए जानकारी हासिल कर लेते हैं।

अगर आप सोच रहे हैं कि हैकर्स आपसे इस तरह क्या चुरा सकते हैं, तो हम आपको बता दें कि इस तरह के साइबर अटैक से हैकर्स आपका पता, आपकी फोटो और वीडियो और आपके बैंक डिटेल जैसी महत्वपूर्ण जानकारियां चुरा लेते हैं।

See also  Rail Kaushal Vikas Yojana 2022 ऑनलाइन आवेदन कैसे करें रेल कौशल विकास योजना 2022 फॉर्म कैसे भरें

अगर आप इस तरह के अटैक से खुद को बचाना चाहते हैं तो आपको वीपीएन यानी वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क का इस्तेमाल करना चाहिए। यह सार्वजनिक नेटवर्क पर भी निजी नेटवर्क की सुविधा प्रदान करेगा और उपयोगकर्ताओं को सुरक्षित रूप से इंटरनेट का उपयोग करने की स्वतंत्रता देगा।

Leave a Reply