वंदे भारत एक्सप्रेस-2 जुलाई में दौड़ेगी इन रूटों पर, मिलेंगी ये सभी सुविधाए

वंदे भारत एक्सप्रेस-2 | देश में बनी वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन के वर्जन टु का 16 डिब्बों का एक ओर रैक इंटीग्रल कोच फैक्ट्री (आईसीएफ) चेन्नई में तैयार हो गया है. तैयार किए गए रैक में सिटे और पाहिए लगाना अभी बाकी है. वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन का ट्रायल के बाद जुलाई से ही यात्री इस में सफर कर पाएंगे. यात्रियों की सुविधाओं के लिए इस ट्रेन में कई नए फीचर्स भी जोड़े गए हैं.

वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन में करीब 8 घंटे तक यात्रा बैठकर कर सकते हैं. इसलिए यात्रियों के बैठने की सहूलियत का विशेष ध्यान रखा गया है. वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन की रिकलाइनिंग सीट को पुशबैक से लैस किया गया है. हर डिब्बे में आपातकालीन चार खिड़कियां दी गई है. दरवाजे और खिड़कियों में फायर सर्वाइवल डोरी (केबल) का इस्तेमाल किया गया है. जिससे आग लगने की स्थिति में भी दरवाजे और खिड़कियों को खोलना आसान होग. साथ ही हर कोच में दो की बजाय अब चार इमरजेंसी पुश बटन भी लगा दिए गए हैं.

See also  Attention: रविवार को ट्रेन से हरियाणा, दिल्ली, यूपी और पंजाब आना-जाना होगा मुश्किल, रेलवे ने दी जानकारी

Smoking करते ही बजेगा अलार्म

तैयार किए गए डिब्बे में स्मोकिंग अलार्म लगाया गया है. यात्रियों के स्मोकिंग करते ही अलार्म बजने लगेगा. हर कोच में 4 माइक और स्विच लगाए गए हैं. इसके अलावा पावर फैल होने पर ट्रेन भले ही रुक जाए लेकिन डिब्बों में लाइट जलती रहेगी. लाइटिंग सिस्टम को पूरी तरह से बैटरी से जोड़ा गया है.

मौजूदा समय में वंदे भारत का रैक सिर्फ चेन्नई में तैयार हो रहा है. लेकिन जल्द ही पंजाब के कपूरथला और उत्तर प्रदेश के रायबरेली स्थित आधुनिक रेल कोच फैक्ट्री में भी वंदे भारत के रैक तैयार के जाएंगे. तीन फैक्ट्री में हर महा दो डब्बे तैयार किए जाएंगे, 1 साल में 48 रेक तैयार कर पटरी पर उतारने का लक्ष्य रखा गया है.