Uttarakhand : यहां मिली अब तक की सबसे बड़ी गुफा, अंदर बने शिवलिंग को देखकर दंग रह जाएंगे आप!

Uttarakhand : उत्तराखंड में इतनी बड़ी गुफा मिली है, जो यहां अब तक मिली सभी गुफाओं में सबसे बड़ी है। यह गुफा 8 मंजिल से ज्यादा लंबी है। इसकी खोज 4 स्थानीय युवकों ने की है। इस गुफा में मिले शिवलिंग पर पानी की बूंदे भी गिर रही हैं।

Uttarakhand

उत्तराखंड के गंगोलीहाट में एक विशाल गुफा मिली है। यह गुफा 8 मंजिल की है और इसमें कई पौराणिक चित्र भी मिले हैं। इतना ही नहीं इस गुफा के अंदर शिवलिंग भी मिला है और हैरानी की बात यह है कि इस शिवलिंग पर चट्टानों से पानी भी गिर रहा है। गुफा की विशालता के साथ शिवलिंग पर गिरने वाले पानी ने इस जगह को सुर्खियों में ला दिया है। माना जाता है कि यह गुफा प्रसिद्ध पाताल भुवनेश्वर गुफा से भी बड़ी हो सकती है।

See also  Discount On Liquor in Delhi : दिल्ली में शराब की कीमत पर कितनी मिल रही छूट जानिए

इस गुफा की खोज 4 युवाओं ने की है

शैल पर्वतीय क्षेत्र की गुफा घाटी गंगोलीहाट में स्थित प्रसिद्ध सिद्धपीठ हटकालिका मंदिर से लगभग एक किमी दूर मिली इस गुफा की खोज 4 युवकों ने की है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक रविवार को जब गंगोलीहाट के गंगावली वंडर्स ग्रुप के सुरेंद्र सिंह बिष्ट, ऋषभ रावल, भूपेश पंत और पप्पू रावल इस गुफा में पहुंचे तो इसके विशाल आकार को देखकर दंग रह गए. वे लगभग 200 मीटर तक गुफा के अंदर गए और प्राकृतिक रूप से बनी सीढ़ियों से होते हुए गुफा की 8 मंजिलों से नीचे उतरे। गुफा में नौवीं मंजिल भी थी लेकिन वे वहां नहीं पहुंच सके।

See also  SBI New Offer : SBI ग्राहकों को मिल रहा है 2 लाख रुपये का मुफ्त फायदा! बस ये काम करो

शिवलिंग पर गिर रहा पानी

इस गुफा का नाम महाकालेश्वर रखा गया है। इस क्षेत्र की अन्य गुफाओं की तरह यहां की चट्टानों पर भी पौराणिक आकृतियां उभरी हैं। यहां शेषनाग समेत कई देवी-देवताओं के चित्र भी सामने आए हैं। लेकिन सबसे हैरान करने वाली बात यह है कि गुफा के अंदर बने शिवलिंग के आकार पर चट्टान से पानी गिर रहा है। आश्चर्यजनक बात यह है कि इतनी लंबी गुफा होने के बाद भी यहां पर्याप्त ऑक्सीजन है। यह गुफा 150 मीटर गहरी पाताल भुवनेश्वर से भी बड़ी है। ऐसे में भविष्य में इस गुफा को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित कर पर्यटकों का ध्यान खींचा जा सकता है।