Toll Free Highway: अब हाईवे पर नहीं देना होगा टोल टैक्स! इस तारीख से लागू होगा नया नियम

Toll Free Highway | किसी भी हाईवे पर जाने पर उसका टोल देना जरूरी होता है. ऐसे में कई बार टोल प्लाजा पर लंबी-लंबी लाइनें लग जाती है जिससे परेशानी का सामना करना पड़ता है. वैसे तो इस समस्या से निजात दिलाने के लिए फास्टैग लाया गया है लेकिन इसके बावजूद टोल प्लाजा पर लंबी लाइनों में कोई भी फर्क नहीं पड़ा है. इस बीच अब एएनपीआर (ऑटोमेटिक नंबर प्लेट रीडर) सिस्टम लागू होने जा रहा है. आइए यहां जानते हैं इस नए सिस्टम के बारे में डिटेल से.

Read Also: ग्रुप-C के 40 हजार पदों पर भर्ती, इस तारीख से कर सकते हैं आवेदन

केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय का नया कांसेप्ट:

यह एएनपीआर सिस्टम केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय का एक नया कांसेप्ट है. इसके तहत भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण राजस्थान में एक ऐसा ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे बनाया जा रहा है जहां किसी भी तरीके का टोल बूथ नहीं होगा. इसका सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि वाहन के मालिक को मात्र उतना ही पैसा देना होगा जितना वह हाईवे पर चला है.

See also  अच्छी खबर! सरकारी नौकरियों में भर्ती के लिए आयु सीमा में 6 साल की बढ़ोतरी, मातृत्व अवकाश भी हुआ दोगुना

स्कैन की जाएंगी वाहन की नंबर प्लेट:

वर्तमान में हाईवे पर सफर करने के दौरान टोल फास्टैग के द्वारा कट जाते हैं. लेकिन आने वाली नई तकनीक के लागू होने के बाद आपके वाहन की नंबर प्लेट को स्कैन किया जाएगा और फास्टेक से पैसे कट जाएंगे. आपको बता दें कि ऐसा माना जा रहा है कि इसमें लोगों को किलोमीटर के हिसाब से पैसे देने होंगे यानी जितना वह हाईवे पर चला है उसको उतने ही पैसे देने होंगे.

See also  Startups Share Carnage: 2021 में IPO लाकर शेयर बाजार में धूम मचाने वाली स्टार्टअप कंपनियों के शेयर गिरे, निवेशक रो रहे हैं.

यहां से शुरू होगा ये नया कांसेप्ट:

इसमें कांसेप्ट की शुरुआत राजस्थान से होने जा रही है. दरअसल, राजस्थान में भारत माला प्रोजेक्ट के तहत ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे बनाया जा रहा है. जानकारी के मुताबिक राजस्थान में इसकी कुल लंबाई 67 किलोमीटर होगी. यह एक्सप्रेसवे पंजाब, हरियाणा, राजस्थान समेत गुजरात से होकर गुजरेगा. इसकी कुल लंबाई 1224 किलोमीटर होगी. आपको बता दें कि इस प्रोजेक्ट के पूरा होने के बाद राजस्थान को डेडीकेटेड एक्सप्रेसवे मिल जाएगा.