आधार के नियमों में हुआ है बदलाव! क्या आप जानते हैं?

Aadhar Card Latest Update 2022 | UIDAI ने आधार वेरिफिकेशन की रकम 20 रुपये से घटाकर 3 रुपये कर दी है। आइए जानते हैं इससे होने वाले फायदे।

नई दिल्ली: भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने ग्राहकों के लिए आधार सत्यापन की राशि 20 रुपये से घटाकर 3 रुपये कर दी है। आधार का लाभ उठाने के लिए वित्तीय प्रौद्योगिकी क्षेत्र में क्षमता।

सत्यापन दर 20 रुपये से घटाकर 3 रुपये कर दी गई है।

सौरभ गर्ग ने कहा, ‘हमने प्रति सत्यापन दर को 20 रुपये से घटाकर 3 रुपये कर दिया है। इसका उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि विभिन्न एजेंसियां और संस्थान सरकार द्वारा बनाए गए डिजिटल बुनियादी ढांचे का बेहतर उपयोग कर सकें। लोगों के जीवन को गरिमा के साथ आसान बनाने के लिए इस बुनियादी ढांचे का उपयोग करना आवश्यक है।

See also  क्या है पिता बनने की सही उम्र, जानिए यहां, इसके बाद…

99 करोड़ लोगों ने इस्तेमाल किया (Aadhar Card Latest Update 2022)

अब तक 99 करोड़ ई-केवाईसी (नो योर कस्टमर) के लिए आधार सिस्टम का इस्तेमाल किया जा चुका है। यूआईडीएआई किसी के साथ बायोमेट्रिक्स साझा नहीं करता है और अपने सभी भागीदारों से अपेक्षा करता है कि वे समान स्तर की सुरक्षा और गोपनीयता बनाए रखें जैसा कि प्राधिकरण करता है।

दरअसल, नया आधार कार्ड बनवाने के लिए पैसे नहीं देने पड़ते। लेकिन, आपको आधार अपडेट करने के लिए नाम, पता, जन्मतिथि, ई-मेल आदि में सुधार जैसे शुल्क का भुगतान करना होगा। जनसांख्यिकीय अपडेट के लिए 50 रुपये और बायोमेट्रिक अपडेट के लिए 100 रुपये (जनसांख्यिकीय अद्यतन के साथ/बिना) के लिए शुल्क देना होगा। भुगतान किया है।

See also  Toll Rate: 1 अप्रैल से महंगा हो रहा है हाईवे का सफर, जानिए टोल टैक्स के नए रेट

देश में आधार अनिवार्य दस्तावेज

आधार देश में एक अनिवार्य दस्तावेज है। केंद्र सरकार ने सभी योजनाओं को आधार से जोड़ दिया है। 54 मंत्रालयों की लगभग 311 केंद्रीय योजनाओं को आधार का उपयोग करते हुए प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण (डीबीटी) प्लेटफॉर्म के तहत कवर किया गया है।

सरकार द्वारा किसानों के लिए चलाई जा रही योजनाएं जैसे- पीएम-किसान निधि योजना आधार प्लेटफॉर्म पर आधारित है, जिसके तहत करीब 10 करोड़ किसानों को हर चार महीने बाद 2000 रुपए ट्रांसफर किए जा रहे हैं। आधार सत्यापन का अर्थ है कि आधार संख्या का उपयोग किसी योजना के लाभार्थी की सही पहचान करने के लिए किया जा रहा है।

Leave a Reply