Murder case: ताऊ चाचा की लडाई ने ले ली मासूम की जान

अक्सर परिवारों में छोटी मोटी लड़ाइयां होती रहती हैं। लेकिन कई बार यह लड़ाइयां बड़ा रूप ले लेती हैं। और एक दूसरे की जान लेने पर भी उतारू कर देती हैं। ऐसा ही कुछ हुआ है करनाल जिले के कमालपुर रोड़ान गांव में। लेकिन इस लड़ाई ने कुछ ज्यादा ही घिनौना रूप ले लिया। आपसी रंजिश का शिकार एक मासूम हो गया। हुआ यूं की कमालपुर रोदान आपके एक परिवार में चाचा ताऊ के लड़कों के बीच कुछ बहस हो गई थी। इसकी वजह खेत की डोल बताई जा रही है। 3-4 महीने पहले मोबाइल पर दोनों गुटों के बीच काफी गाली ग्लोच हुआ। दोनों परिवारों की औरतें भी आपस में लड़ी थी। जैसा कि अब कुछ समय बीत चुका था तो बात थोड़ी शांत हो गई थी। और लडाई के बाद जस का पिता रंजीत भी कुछ महीने पहले अमेरिका जा चुका था ।लेकिन शायद यह बात केवल मुंह पर ही खत्म हुई थी। दिल में इस बात में एक रंजिश का रूप ले लिया था। और आखिरकार इस आपसी रंजिश में एक मासूम को अपना शिकार बना लिया।

See also  RASHI PARIVARTAN 2022 : शनि-गुरु समेत इन ग्रहों का होगा जबरदस्त उलटफेर, जानिए आपके जीवन पर क्या होगा असर

3-4 दिन से था मासूम लापता

मासूम जस्स 3-4 दिन से लापता था। पहले तो गांव में आने वाले साधुओं को इसका आरोपी माना जा रहा था। लोगों का मानना था कि वही बच्चों को उठाकर ले गए हैं। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज करवाई गई व पुलिस ने छानबीन शुरू की। गांव के सभी घरों की तलाशी ली गई। क्योंकि आरोपी जस के परिवार से ही ब्लॉक करता था, उनके ऊपर शक नहीं किया गया व उनके घर की छानबीन भी नहीं हुई। गांव के चारों तरफ बच्चे को ढूंढा गया। हर गली कोने में ढूंढा गया। सभी साधुओं के पास देखा गया। सभी सीसीटीवी कैमरे चेक हुए। लेकिन जस का पता नहीं चला।

See also  LIC का सुपरहिट प्लान! 4 साल तक देना होगा प्रीमियम, मिलेगा 1 करोड़ रुपए का फायदा

छत पर फेंक दी लाश

5 अप्रैल की सुबह सब लोग अपने घरों में काम कर रहे थे व जस के घर वही बच्चे के गुम जाने की टेंशन चल रही थी। तभी एक आवाज आई ऐसा लगा मानो कोई भारी चीज घर की छत पर गिरी हो। देखने पर पता चला कि वो तो मासूम की लाश थी। शरीर पूरी तरह खून से लथ पथ था।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार

पुलिस ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार किया पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पाया गया कि जस की हत्या गला दबाने से हुई है। पुलिस ने परिजनों के शक के आधार पर आरोपी को गिरफ्तार किया है। जल्दी ही न्याय मिलने की सांतवना भी जताई है।