सरकारी नौकरी की आड़ में दहेज मांगने वालों को रोहतक के लाडले का तमाचा, सब कर रहे तारीफ

रोहतक | एक तरफ महेंद्रगढ़ जिले के सब इंस्पेक्टर ने दहेज में क्रेटा वाहन की मांग कर समाज की बुराई को दूर करने का काम किया तो दूसरी तरफ हरियाणा रोडवेज विभाग में क्लर्क के पद पर कार्यरत रोहतक के प्रिय ने ऐसा कारनामा किया है. काम है कि हर कोई उनकी तारीफ करते नहीं थक रहा है। रहा है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल के गांव निदाना के इस किसान बेटे ने इस संदेश के जरिए समाज के लिए एक मिसाल कायम की है.

संजीत के बेटे करमबीर सिंह ने बिना किसी दान या दहेज के शादी कर समाज को आईना दिखाने का काम किया है. जहां लड़के ने लकड़ी की दुल्हन की दुल्हन बनने की इच्छा को धराशायी कर दिया, वहीं सब-इंस्पेक्टर की तारीफ करते हुए संजीत अपनी पत्नी को बुलेट मोटरसाइकिल पर अपने घर ले आया. इस पूरी घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है और हर कोई इस काम की तारीफ कर रहा है.

See also  6 जुलाई से शुरू होगी रोहतक से हरियाणा रोडवेज की बस सेवा तीन प्रदेशों में

संजीत नेहरा ने बुलेट मोटरसाइकिल की डोली बनाकर अपने सपनों की रानी को पवेलियन से घर लाने का शानदार काम किया, वहीं पीछे की सीट पर बैठी नई दुल्हन भी मंद-मंद मुस्कुरा रही थी. बुलेट मोटरसाइकिल पर अपनी दुल्हन पूजा को घर ले आए संजीत ने कहा कि वह युवाओं को यह संदेश देना चाहता है कि उन्हें ऐसा जीवनसाथी मिले जो दुल्हन के रूप में सात पीढ़ियों तक सम्मान दे, फिर हम दहेज पर किसी के सपनों की कुर्बानी क्यों दें. त्याग। जुड़ गया।

इसलिए मैं सभी युवाओं से दहेज को दरकिनार करते हुए शालीनता से शादी करने का आग्रह करता हूं। वहीं दूसरी चीजों पर ज्यादा खर्च न करें। संजीत नेहरा के इस काम की चारों तरफ तारीफ हो रही है और समाज को भी उम्मीद है कि बदलाव की इस मुहिम से समाज में फैली दहेज प्रथा को खत्म करने की मुहिम को मजबूती मिलेगी.

See also  सेना भर्ती पंजीकरण शुरू, इन जिलों के युवा कर सकते हैं आवेदन

Leave a Reply