Rewari AIIMS News: रेवाड़ी एम्स की आधारशिला रखेंगे प्रधानमंत्री, जेपी नड्डा ने दी जानकारी

Rewari AIIMS News | जल्द ही हरियाणा के रेवाड़ी जिले में प्रधानमंत्री के द्वारा एम्स को आधारशिला रखी जाएगी. इसकी जानकारी भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने दी. जेपी नड्डा ने कहा कि हरियाणा सरकार स्वास्थ्य सेवाओं में केंद्र की तर्ज पर बेहतर कार्य कर रही है. जेपी नड्डा ने अंबाला छावनी में 72 करोड़ रुपये की लागत से बने ‘अटल कैंसर केयर केंद्र’ जनता को समर्पित किया.

उन्होंने कहा कि पहले की सरकारों ने एम्स बनाने पर ध्यान नहीं दिया, मोदी सरकार 16 एम्स बनाने पर काम कर रही है. मुख्यमंत्री मनोहर लाल और स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज की कार्यप्रणाली की प्रशंसा करते हुए कहा कि मोदी के नेतृत्व में हरियाणा सरकार स्वास्थ्य सेवाओं के साथ-साथ अन्य क्षेत्रों में भी सरकार बेहतरीन कार्य कर रही है. हरियाणा में 1147 हेल्थ वेलनेस सेंटर बनकर तैयार हो चुके हैं। हरियाणा ऑक्सीजन के लिए भी आत्मनिर्भर हो चुका है.

See also  Rewari AIIMS News: अभी तक एम्स के लिए जमीन ही नही खरीदी गई, लोगो को सरकार पर संदेह

Rewari AIIMS Latest News

उन्होंने कहा कि हरियाणा के रेवाड़ी जिले के गांव मनेठी में बनने वाले अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के लिए जमीन मिल गई है. जल्द ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसकी आधारशिला रखेंगे. इस संस्थान के तैयार होने के बाद हरियाणा के लोगों को और बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं मिल सकेंगी. इसके अलावा, हरियाणा के बाढ़सा में कैंसर अस्पताल बनाया गया है. नड्डा ने कहा कि आज भी दुनियाभर के देश कोरोना से जूझ रहे हैं, लेकिन हमारे यहां लोगों ने मास्क उतार दिए हैं, क्योंकि अधिकतर लोगों टीकाकरण के चलते सुरक्षा कवच ग्रहण कर चुके हैं. सांसद ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में 80 करोड़ लोगों को मुफ्त राशन मिल रहा है.

See also  खुशखबरी! हरियाणा को मिलेगी देश में 22वें AIIMS की सौगात,PM Modi करेंगे जल्द शिलान्यास

जमीन ना मिलने की वजह से हुई देरी

वर्ष 2014-15 के दौरान सीएम मनोहर लाल ने मनेठी में एम्स बनाने की घोषणा की थी. मनेठी में ग्राम पंचायत ने 200 एकड़ से भी ज्यादा जमीन देने का प्रस्ताव पास कर सरकार को दिया, लेकिन वन क्षेत्र होने के चलते पर्यावरण विभाग से अनुमति नहीं मिल पाई और मामला लटक गया। इसके बाद माजरा गांव में जमीन को लेकर सहमति बन चुकी है.