परसेंटाइल फार्मूले में फंसी 5500 सिपाही पदों की भर्ती, जानिए अब क्या होगा

परसेंटाइल फार्मूले की वजह से हरियाणा में पुरुष सिपाही भर्ती के 5500 पदों का फाइनल परिणाम चार माह से लटका है. इससे नाराज अभ्यर्थियों ने हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग (एचएसएससी) के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. जल्द परिणाम जारी करने की मांग को लेकर अभ्यर्थी रोजाना आयोग के पंचकूला स्थित कार्यालय के बाहर रोष जताने पहुंच रहे हैं और प्रदर्शन कर रहे हैं.


दरअसल, 13 दिसंबर 2020 को 5500 पुरुष सिपाही पदों की भर्ती के विज्ञापन जारी किया गया था. इसमें 8 लाख 39 हजार युवाओं ने आवेदन किया था. 30 अक्तूबर, एक और दो नवंबर 2021 को लिखित परीक्षा हुई. परीक्षा में 3 लाख 89 हजार अभ्यर्थियों ने हिस्सा लिया.

See also  हरियाणा में एक और बड़ी भर्ती रद्द, HSSC ने लिया फैसला

जनवरी 2022 तक लिखित और फिजिकल परीक्षा पास करने वाले अभ्यर्थियों के दस्तावेजों की जांच हो चुकी है. बावजूद इसके आयोग भर्ती का परिणाम जारी नहीं कर पाया है. आयोग परिणाम जारी करने के लिए परसेंटाइल फार्मूला लगा रहा है.

अभ्यर्थियों की मांग है कि प्राप्त अंकों के आधार पर ही परिणाम जारी किया जाए। परसेंटाइल फार्मूले से परिणाम जारी करने के विरोध में 350 से अधिक अभ्यर्थियों ने पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में याचिका दायर की हुई है. बुधवार को सुनवाई होगी. अभ्यर्थियों के एडवोकेट रविंद्र ढुल का कहना है कि आयोग परसेंटाइल स्कोर के अंदर आर्थिक सामाजिक आधार के अंक जोड़ रहा है. इससे मेरिट वाले अभ्यर्थी बाहर हो रहे हैं और केवल आर्थिक सामाजिक आधार पर अंक हासिल करने वालों को नौकरी मिल रही है.

See also  HSSC New Exam Pattern 2022: हरियाणा सरकार की सभी भर्तिया होगी अब इस प्रतिरूप पर

पहले भी लटक चुकी है यह भर्ती

यह भर्ती पेपर लीक होने के चलते लटक गई थी. 7 व 8 अगस्त को परीक्षा ली जानी थी। पहले ही दिन 7 अगस्त को ही कई जिलों में पेपर लीक हो गया था. इस मामले में कैथल पुलिस ने 80 से अधिक आरोपी काबू कर चुकी है.

हरियाणा सरकार को इस मामले को गंभीरता से लेना चाहिए। किसी भी भर्ती का परिणाम तय समय में जारी किया जाए. आयोग की कार्यप्रणाली से युवाओं में आक्रोश बढ़ रहा है. परिणाम के लिए फार्मूला विज्ञापन के समय बताना चाहिए.