सिर्फ 2-3 घंटे में दिल्ली पहुंचें, नए एक्सप्रेसवे में कई जंगल अंडरपास और फ्लाईओवर

नए एक्सप्रेसवे | केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी परियोजना दिल्ली-देहरादून एक्सप्रेस-वे का निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है। गणेशपुर से डाट काली तक 12 किमी एलिवेटेड रोड पर पिलर जोड़ने का काम शुरू हो गया है। एलिवेटेड रोड का निर्माण पूरा होते ही दिल्ली-देहरादून के बीच वाहनों की रफ्तार को पंख लग जाएंगे।

अब सफर होगा और आसान

उत्तराखंड में Multi Model Connectivity पर अभूतपूर्व काम हुआ है। इससे राज्य में उद्योग और निवेश को काफी बढ़ावा मिला है। राजधानी दून से दिल्ली के बीच बन रहे एक्सप्रेस-वे से प्रदेश में विकास की गति तेज होगी। इस परियोजना के तहत दून से दिल्ली तक चौड़ी सड़क न सिर्फ सफर आसान करेगी, बल्कि उद्यमियों और कारोबारियों को भी बड़ी राहत देगी।

See also  PM Modi Latest News 2022 : यूपी जीता, अब गुजरात की बारी! पीएम मोदी के रोड शो में उमड़े लोग

See Also: दिल्ली, NCR और हरियाणा में बसाए जाएंगे 5 नए शहर

इस साल के अंत तक रोड का निर्माण होगा शुरू

इस प्रोजेक्ट के तहत दटकली में बन रही थ्री लेन टनल का काम पूरा हो चुका है। 12 किमी एलिवेटेड रोड के लिए 300 पिलर पर काम चल रहा है। 125 पिलर बनाए गए हैं। इस साल के अंत तक सुपर स्ट्रक्चर यानी पिलर के ऊपर एलिवेटेड रोड का निर्माण शुरू हो जाएगा। दून में, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने 4 दिसंबर, 2021 को दून-दिल्ली एक्सप्रेसवे की आधारशिला रखी, जिसके तहत दटकली में 340 मीटर की एक नई सुरंग बनाई जा रही है।

See also  Omicron Variant: ओमिक्रोन वेरिएंट के मरीजों के लिए बहुत असरदार है Steam, जानें इसके फायदे

जानें ये है खास बात

श्री-लेन टनल की चौड़ाई 13 मीटर और ऊंचाई सात मीटर होगी। पहले चरण में कर्व का हिस्सा काटा जा रहा है, जिसकी ऊंचाई तीन मीटर है। सुरंग को पार करने के बाद उम्मीद की जा रही है कि मशीनें इसके अंदर जा सकेंगी, जिससे काम आसान हो जाएगा. दतकली से गणेशपुर तक 12 किमी का एलिवेटेड एक्सप्रेस-वे बनना है, जो बरसाती नदी के ऊपर बनाया जा रहा है।