राज्यसभा सांसद दीपेंद्र हुडडा ने संसद में पेश किया स्थगन प्रस्ताव, जानिए प्रमुख बातें

नई दिल्ली| किसानों का आंदोलन अभी भी जारी है, आज राज्यसभा सांसद दीपेंद्र हुड्डा ने किसानों की जायज मांगों पर चर्चा के लिए संसद में स्थगन प्रस्ताव पेश किया है. आपको बता दें कि किसान 1 साल से अधिक समय से आंदोलन कर रहे हैं, हालांकि प्रधानमंत्री ने तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की घोषणा की थी, लेकिन किसान नेताओं का कहना है कि एमएसपी पर गारंटी कानून भी उनकी मुख्य मांगों में शामिल है. राज्यसभा सांसद दीपेंद्र हुड्डा ने किसानों की मांगों पर चर्चा कराने के लिए आज स्थगन प्रस्ताव (पत्र) लिखा है। जिसमें वह किसानों की मांगों के संदर्भ में चर्चा कराने के लिए कहां हैं.

See also   झज्जर: खेल खेल में रस्सी के फंदे से दम घुट कर मासूम की मौत

Haryana Local News Live:

दीपेंद्र हुड्डा पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा के बेटे हैं और वर्तमान में राज्यसभा सांसद हैं. राज्यसभा सांसद दीपेंद्र हुड्डा ने किसानों की जायज मांगों पर चर्चा के लिए संसद में स्थगन प्रस्ताव पेश किया है। उन्होंने पत्र में लिखा है कि एक साल से अधिक समय से लाखों किसान राष्ट्रीय राजधानी की सीमाओं पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। किसानों की मांगों पर चर्चा करना आवश्यक है क्योंकि वे ठंड और गर्मी का सामना करते हुए अपनी जायज मांगों के लिए बहादुरी से खड़े हैं। इस दौरान 681 में अधिक किसानों ने अपने प्राणों की आहुति दी है। आदर्श लोकतंत्र की संसद का यह कर्तव्य है कि देश के नागरिकों के अधिकारों की रक्षा की जाए और उन्हें उचित सुरक्षा दी जाए।

Leave a Reply