किसान भाइयों को ट्यूबेल कनेक्शन 15 जुलाई तक देने की योजना

चंडीगढ़ | हरियाणा प्रदेश के विद्युत मंत्री श्री रंजीत सिंह जी ने कहा है कि राज्य सरकार द्वारा किसान भाइयों को पहले चरण में बचे हुए 7621 ट्यूबवेल कनेक्शन आने वाली 15 जुलाई तक देने का लक्ष्य बनाया गया है. परंतु अभी तक केवल 9401 ट्यूबवेल कनेक्शन दिए गए हैं. विद्युत मंत्री ने आज एक पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए कहा है कि जिन किसान भाइयों ने ट्यूबबेल कनेक्शन के लिए 1 जनवरी 2019 से पहले आवेदन किया था, उन्हें कनेक्शन दिए जा रहे हैं. इससे पहले के चरण में कुल 17022 ट्यूबवेल कनेक्शन जारी किए जाएंगे. इसी संदर्भ में दूसरे चरण में 40,000 आवेदको को ट्यूबवेल कनेक्शन दिए जाएंगे. जिनको 30 जून 2022 तक लगाने का लक्ष्य रखा गया है. इनमें से फ़िलहाल 39571 आवेदको को फीस जमा कराने को कहा गया है. इसके अलावा किसान भाइयों ने 19672 लागत फीस जमा करा दी है.

See also  पिता ने हॉकी स्टिक दिलाने से किया था मना, अब कुरुक्षेत्र का सुरेंद्र ओलंपिक में दिखाएंगा जलवा

इसके अलावा रंजीत सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की सरकार द्वारा किसान भाइयों को फसल के लिए अधिक से अधिक पानी उपलब्ध कराने के लिए कदम उठाए जाएंगे. जिन जगहों में भूमि का जल स्तर 100 फूट से अधिक गहराई में हैं. उन जगहो में सिंचाई को प्रोत्साहन दिया जाएगा सामान्य जाति के किसान भाइयों को 60 प्रतिशत तक एवं अनुसूचित जाति के किसानों को 80 प्रतिशत तक सब्सिडी देने का कहा गया है.

विद्युत मंत्री ने कहा कि उनकी सरकार ने किसानो के हितों को ध्यान में रखते हुए 7 और अन्य कंपनियों के मोटर पंप सेट को अधिकृत किया है. कोई भी किसान इन पंप सेट को खरीद कर अपने खेतों में लगवा सकते हैं. जिसमें इलेक्ट्रोनिक लिमिटेड, शक्ति पंप, ड्यूक प्लास्टो तकनीक, एक्वासब इंजीनियरिंग, और लूबी इंडस्ट्री के 3 और स्टार पंप शामिल हैं. इन कंपनियों के पंप लगवाने से लेकर रिपेयर करने तक की पूरी जिम्मेदारी कंपनी की होगी.

See also  जानिए क्या आप आयुष्मान कार्ड बनवाने के पात्र हैं या नही?

सूक्ष्म सिंचाई के लिए 60 से 80% सब्सिडी मिलेगी:

आपको बता दें कि प्रदेश के जिन इलाकों में भूजल स्तर 100 फीट से नीचे पहुंच चुका है वहां माइक्रो सिंचाई को लागू किया जाए. इसके प्रोत्साहन के लिए हरियाणा सरकार अनुसूचित जाति के किसानों को 80% वह सामान्य श्रेणी के किसानों को 60% तक की सब्सिडी देगी

Leave a Reply