तीन बिजली अधिकारियों को किसान को परेशान करने पर एक 1 साल की कैद और दस-दस हजार रुपए का जुर्माना

नारनौल| जिला उपभोक्ता विवाद प्रतितोष मंच ने सत्यनारायण बनाम दक्षिणी हरियाणा बिजली वितरा निगम नारनौल केस में फैसला सुनाते हुए किसानों को समाज की रीड की हड्डी बताया है और टिप्पणी भी दी. दूसरी निगम के तीन अधिकारियों को दोषी मानते हुए, उन्हें एक 1 साल की जेल एवं 10 हजार रुपए जुर्माना भी देने को कहा है. इन तीन अधिकारियों में बिजली निगम के मैनेजिंग डायरेक्टर हिसार कार्यकारी अभियंता नारनौल तथा एसडीओ नांगल चौधरी शामिल है.

Narnaul Mahendragarh News Today Live In Hindi

मिली जानकारी के मुताबिक तहसील नागर चौधरी के गांव बामनवास खेता निकासी करीब 85 वर्षीय वृद्ध सत्यनारायण शर्मा ने जिला उपभोक्ता विवाद परिषद मंच में शिकायत दी थी कि निगम ने बिजली बिल नहीं भरने पर वर्ष 2011 में उनका ट्यूबवेल कनेक्शन काट दिया था. कनेक्शन काटने के बाद उन्होंने 20 अक्टूबर 2014 को बिल भर दिया था, जो करीब 14,398 रुपए था. यह बिल भरने के बाद वह दोबारा कनेक्शन जोड़ने के लिए निगम अधिकारियों से मिला, लेकिन अधिकारियों ने उसे दोबारा 33,450 रुपए की राशि का भुगतान करने के लिए कहा. फिर उसने यह राशि 18 मार्च 2016 को जमा करवा दी तथा सभी आवश्यक कागजात भी पूरे कर दिए. इसके बावजूद जब वह दोबारा कनेक्शन जोड़ने के लिए अधिकारियों से मिला तो उन्होंने दोबारा 1,56,871 रूपए और निकलवा लिए. जिस पर परेशान एवं पीड़ित किसान ने 5 जून 2016 तक (शिकायतकर्ता ने) 226000 रुपए भर दिए. लेकिन फिर भी कनेक्शन चालू नहीं हुआ. इस पर पीड़ित किसान ने न्याय की उम्मीद में वकील एन एन यादव की मदद से एक शिकायत कंप्लेंट दर्ज की थी.

See also  Weather Alert : मौसम विभाग के वैज्ञानिकों का कहना पश्चिमी विक्षोभ दिखाएगा असर, इन दिनों में जबरदस्त बारिश

तीनों अधिकारी सजा के हकदार फैसले की पालना न करने के कारण:

इस पर मंच के चेयरमैन मनजीत नार वाल ने अक्टूबर 4 2019 को किसानों के पक्ष में फैसला देते हुए आदेश दिए कि निगम अधिकारियों को किसान से लिए गए 2,26,000 रुपए उन्हें नगदी ब्याज समेत वापस लौटाए जाएं. लेकिन इन आदेशों की नगर निगम अधिकारियों द्वारा कोई पालना नहीं की गई. अब 25 जून को दिए गए फैसले में कंजूमर फोर्म ने आदेश दिया है कि उन्होंने आदेशों की पालना नहीं की. इस कारण इन तीन अधिकारियों को सजा दी जाएगी. जिसके चलते उन तीनों को एक-एक साल की कैद व 10,000 रुपए जुर्माना देना पड़ेगा.

Leave a Reply