BA.2 सब वेरिएंट: ओमाइक्रोन का नया स्ट्रेन BA.2 भारत में आया, 530 सैंपल मिले; जानिए कितना खतरनाक है यह वायरस

BA.2 सब वेरिएंट: Omicron सब-वेरिएंट ने यूके में हंगामा खड़ा कर दिया है। लेकिन अब इसने भारत में भी एंट्री ले ली है. हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक, BA.2 वेरिएंट Omicron की तुलना में तेजी से फैलता है। भारत में अब तक इस सब-वेरिएंट के 530 सैंपल मिले हैं।

Corona Virus Update: दुनिया भर में एक बार फिर से कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं. ऐसे में कोरोना के नए वेरिएंट ओमाइक्रोन ने भी कहर बरपा रखा है. इसी बीच Omicron सबवेरिएंट BA.2 का पता चला है, जिसने एक बार फिर लोगों की चिंता बढ़ा दी है। भारत में अब तक इस सब-वेरिएंट के 530 सैंपल मिले हैं।

भारत में ली इस सब-वेरिएंट ने एंट्री

Omicron सब-वेरिएंट ने यूके में बवाल मचा दिया है। लेकिन अब इसने भारत में भी एंट्री ले ली है. हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक, BA.2 वेरिएंट Omicron की तुलना में तेजी से फैलता है। ब्रिटिश स्वास्थ्य विभाग ने ओमाइक्रोन के इस सब-वेरिएंट से जुड़े सैकड़ों मामलों की पहचान की है। यूके हेल्थ प्रोटेक्शन एजेंसी (यूकेएचएसए) ने इसके बढ़ते मामलों को देखते हुए जांच के बाद इसका नाम बीए.2 रखा है।

See also  पेट्रोल होगा इतना सस्ता कि याद रहेगा 90 का दशक, नितिन गडकरी ने की तैयारी

भारत में मिले 530 सैंपल

जानकारी के मुताबिक, जनवरी के पहले 10 दिनों में ब्रिटेन में इस वेरिएंट के 400 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं. एक ऑनलाइन न्यूज मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक भारत में ओमाइक्रोन सब-वेरिएंट के 530, स्वीडन में 181 और सिंगापुर में 127 सैंपल मिले हैं।

‘ओमाइक्रोन और BA.2 एक जैसे हैं’

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने ओमाइक्रोन वेरिएंट को ‘चिंता के वेरिएंट’ के रूप में वर्णित किया है। माना जा रहा है कि इसका सब-वेरिएंट BA.2 भी कुछ ऐसा ही है। यानी इन दोनों में कोई खास अंतर नहीं है। हालांकि, वैज्ञानिक इस पर कड़ी नजर रख रहे हैं कि यह भविष्य में महामारी के प्रसार को कैसे प्रभावित कर सकता है।

See also  CRPF Recruitment 2022 : सीआरपीएफ में 10वीं 12वीं पास के लिए हजारों पदों पर बंपर भर्ती, जानिए आवेदन की प्रक्रिया

BA.2 मामले करीब 40 देशों में पाए गए

रिपोर्ट्स के मुताबिक अब तक लगभग 40 देशों में Omicron के नए सब-वेरिएंट का पता लगाया जा चुका है। डेनमार्क ने सबसे अधिक BA.2 मामलों की सूचना दी है, जिसमें डेनिश विशेषज्ञों को डर है कि नए संस्करण से ओमिक्रॉन वायरस के कारण होने वाली महामारी के दो अलग-अलग शिखर हो सकते हैं। Omicron के BA.2 उप-संस्करण का पता केवल जीनोम अनुक्रमण के माध्यम से ही लगाया जा सकता है।

Leave a Reply