कुरुक्षेत्र : कोरोना संक्रमित महिला ने वेंटिलेटर पर दिया बच्ची को जन्म , मां बेटी के लिए दुआओं की जरूरत

कोरोना पीड़ित एक महिला की हालत बहुत नाजुक होने पर उसे वेंटिलेटर पर रखा गया था। वेंटिलेटर पर ही महिला ने बच्ची को जन्म दिया है। दोनों की हालत कुछ ठीक नहीं है।

हरियाणा : कुरुक्षेत्र जिले में एक कोरोना से पीड़ित गर्भवती महिला की डिलीवरी हुई है। महिला की जिंदगी वेंटिलेटर के सहारे चल रही है। डॉक्टर ने बताया है कि अस्पताल में वेंटिलेटर पर रहकर बच्ची को जन्म देने वाली मां जसलीन की हालत अभी सुधरने लगी है। साथ में यह भी बताया है कि प्री मच्यौर बेबी अभी खुद अपने से सांस ले रही है। पहले बच्ची को भी वेंटिलेटर पर रखा गया था। परंतु अब उसे वेंटिलेटर से हटा दिया गया है। डॉक्टरों का कहना है कि बच्ची जल्द से जल्द पूरी तरह से ठीक हो जाएगी।

See also  'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' की मुख्य अभिनेत्री बबीता जी के खिलाफ हरियाणा मैं केस दर्ज, देखें पूरी जानकारी 

 

दुआओं का असर:

कोरोना पीड़ित महिला जसलीन तथा उसकी बेटी के स्वास्थ्य होने की दुआएं उसके परिजन तथा डॉक्टर टीम कर रहे हैं। उनका मानना है कि वह जल्दी से ठीक हो कर अपनी बेटी को अपने सीने से लगाएगी। आपको बता दें कि कोरोना पॉजिटिव महिला जसलीन के पहले ही दो बेटियां हैं। कुरुक्षेत्र में ऐसा पहला केस है जिसमें वेंटिलेटर पर रहकर महिला की डिलीवरी हुई है। इसके साथ ही प्री मच्यौर बेबी की डिलीवरी डेढ़ महीने पहले हुई है।

 

2 मई को 30 वर्षीय जसलीन के परिजन कोविड-19 के लक्षण मिलने के कारण उसे अस्पताल लेकर आए थे। बताया गया है कि बालाजी आरोग्यम अस्पताल में जसलीन का ऑक्सीजन लेवल 40 पर था। अस्पताल में जसलीन को लेबर पेन होना शुरू हुआ, परंतु डिलीवरी में अभी डेढ़ महीना बाकी था। डॉ अनुराग कौशल ने बताया है कि जसलीन का वेंटिलेटर पर ऑक्सीजन लेवल 80 था। जसलीन के दोनों फेफड़ों का सीटी स्कैन का सकोर 25/25 था। हालत बहुत ज्यादा नाजुक बनी हुई थी। कुछ भी कहा नहीं जा सकता था।

See also  हरियाणा: नए ‌DGP बनने की दौड़ में कौन है आगे, जानिए इस खबर में

 

कोरोना से पीड़ित महिला जसलीन की डिलीवरी महिला सर्जन डॉक्टर नेहा खनेजा तथा बाल रोग विशेषज्ञ डॉक्टर तनुज की टीम ने कराई थी। महिला ने नॉर्मल डिलीवरी से बच्ची को जन्म दिया। परंतु प्री मच्यौर होने के कारण बच्ची की हालत बिगड़ गई। बच्ची को तुरंत किलकारी अस्पताल में ले जाया गया तथा वहां उसे 2 दिन तक वेंटिलेटर पर रखा।

बच्ची की हालत अभी काफी ठीक हो गई है। उसे वेंटिलेटर से हटा दिया गया है तथा वह अब खुद से सांस ले रही है। बच्ची को अभी कुछ और दिन चिकित्सक देखरेख में रहना पड़ेगा।

 

आपको बता दें कि मां जसलीन की तबीयत अब सुधरने लग गई है। परंतु अभी वह बेहोश ही हैं तथा वेंटिलेटर पर सांस से ले रही है। डॉ अनुराग ने बताया है कि जसलीन को कोरोना होने से उसके फेफड़ों को बहुत ज्यादा नुकसान हुआ है। परंतु अभी उसकी हालत धीरे-धीरे ठीक होने लगी है। हमें उम्मीद है कि वह जल्द से जल्द ठीक होकर अपनी नवजात बच्ची का मासूम चेहरा देखना चाहेगी।

Leave a Reply