हरियाणा : PM नरेंद्र मोदी की मुलाकात CM मनोहर लाल खट्टर से, जानिए क्या हुआ इस मुलाकात में

सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मुलाकात हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से हुई थी. इस मुलाकात के दौरान सीएम मनोहर लाल खट्टर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कोविड प्रबंधन रिपोर्ट सौंपी है. इसके साथ ही मनोहर लाल खट्टर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को प्रदेश में कोरोना वैक्सीन तथा ब्लैक फंगस की दवाइयों की जरूरतों से अवगत कराया. नरेंद्र मोदी ने मनोहर लाल को कोरोना की तीसरी लहर से सचेत रहने के लिए प्रबंधन व्यवस्थाओं को संतोषजनक जताया. इस दौरान किसान आंदोलन पर भी चर्चा हुई थी. लेकिन मंत्रिमंडल विस्तार पर कोई चर्चा नहीं की गई.

Janta TV Haryana news in Hindi live

Janata TV : सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के दौरान कोविड-19 की स्थिति को देखते हुए प्रदेश की वर्तमान तथा भविष्य की आवश्यकताओं के विषय में बातचीत हुई. ब्लैक फंगस बिमारी के इलाज में प्रयोग होने वाली दवाइयों की कमी के लिए उन्होंने गृहमंत्री अमित शाह को जानकारी देने का निर्देश दिया है.

See also  हरियाणा सरकार ने चीनी मिलों को 315 करोड़ रुपए किए जारी, अब जल्द होगा गन्ना किसानों का भुगतान

इस मुलाकात के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मनोहर लाल खट्टर को कोरोना की लहर की आशंका में सतर्क रहने को कहा है. मनोहर लाल खट्टर ने कोविड-19 की वैक्सीन के स्टॉक तथा ब्लैक फंगस की दवाइयों की आवश्यकता बताई है. कोविड-19, ब्लैक फंगस तथा किसान आंदोलन के अलावा अन्य कई विषयों पर चर्चा हुई थी. हालांकि इस दौरान राजनीतिक मुद्दों से दूर रहे. मुख्यमंत्री ने आगे बताया है कि वैक्सीन की आवश्यकता 3 दिन पहले जारी की गई थी. हमें कंपनियों का कितना रिस्पांस नहीं मिलता है. इसकी जानकारी आने वाले समय में मिलेगी.

Janta TV Haryana news Hindi live

यह नहीं कहा :
मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने दिल्ली में जल्दी-जल्दी कोरोना वैक्सीन न लगवाने की बात बिल्कुल नहीं कही है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल तथा हमें भी पता है कि कोरोना वैक्सीन के स्टाक की स्थिति क्या है. हमने कहा है कि स्टॉक के अनुसार टीकाकरण अभियान चलाया जाए. इसमें राजनीति करना सही नहीं है लेकिन जो राजनीति करता है वह उनका स्वभाव है. दिल्ली को हम से अधिक वैक्सीन मिली थी. लेकिन अब देश में 12 करोड़ टीके और उपलब्ध होने जा रहे हैं जो कि तय मानदंडों के अनुसार सभी में बराबर-बराबर बांटे जाएंगे.

Leave a Reply