पति बैंकर और CA पत्नी ने नौकरी छोड़ की खेती, अब सालाना कमा रहे 1 करोड़ का मुनाफा

नौकरी छोड़ की खेती | आजकल ऐसा ना के बराबर ही देखने को मिलता है कि कोई अपनी अच्छी-खासी नौकरी को छोड़ कर खेती-किसान में अपना हाथ आजमाने की कोशिश करें. हालांकि कुछ एक लोग जो ऐसा करके अपना हाथ आजमाते हैं उनमें से एक है ऐसे कपल जिनका नाम है ललित और खुशबू.

जोधपुर के रहने वाले कपल जिनमें ललित बैंकर थे और उनकी पत्नी खुशबू पेशे से चार्टर्ड अकाउंटेंट थी. यह कपल अपनी जमी जमाई और बढ़िया जॉब को छोड़कर खेती किसानी के क्षेत्र में उतर गए. इन्होंने ऑर्गेनिक खेती की शुरुआत कर इससे प्रॉफिट कमाया और इसे बिजनेस बना दिया. इनकी सफलता का अंदाजा हम इसी बात से लगा सकते हैं कि राजस्थान के तमाम किसान अब उनके बनाए गए पैटर्न पर चलकर बढ़िया मुनाफा कमाने की चाह करते हैं.

See also  किसान आंदोलन पर बोले दुष्यंत चौटाला कोई अगर हमला करेगा तो आप उसे माला पहनाकर उनका स्वागत थोड़ी करेंगे👇🏻👇🏻👇🏻

नौकरी छोड़ की खेती! कपल कमा रहा है हर साल 1 करोड़ रुपयों का मुनाफा:

अपने इस बड़े कदम को लेकर ललित ने बताया कि उन्होंने ऑर्गेनिक खेती के बारे में बस सुना ही था. जब उन्होंने इस क्षेत्र में काम करने का फैसला लिया तो उन्होंने इस पर पूरे रिसर्च कर डाली. ललित ने बताया कि उन्होंने एमबीए पुणे से की है और वहीं उन्होंने ग्रीन हाउस और पॉलीहाउस के बारे में जाना था. इसके बाद ही उनके दिमाग में यह बात आई कि काश ऐसी नर्सरी उनके पास भी होती.

इन सबके बाद ललित ने अपनी जमीन पर ग्रीनहाउस और पॉलीहाउस बनाकर एक शानदार नर्सरी शुरू की और इस पर ऑर्गेनिक फल और सब्जियों की खेती की शुरुआत की. जिस पर ललित ने पॉलीहाउस बनाया वह जमीन ललित की पिता से मांगी हुई पुश्तैनी जमीन है. ललित ने बताया कि शुरुआती दौर में उनके पिता इसके लिए राजी नहीं हुए लेकिन फिर धीरे-धीरे वह इसके लिए मान गए और अब इसके लिए उन्होंने इसमें 1 लाख निवेश किए जिसके बाद आज उनकी सालाना कमाई एक करोड़ रुपए से भी ज्यादा है.

See also  हरियाणा में किसानों के सर फोड़ने का आदेश देते भाजपा नेता को कांग्रेसी नेता ने पोस्ट कर कहा सच में ऐसा कहा तो सभी कार्य नहीं

दूसरे किसानों को भी सिखा रहे है इस  तरह की खेती:

ललित के इस बिजनेस के शुरुआत करने के बाद उनकी पत्नी जो पेशे से सीए है वह धीरे-धीरे पूरे बिजनेस को संभाल रही हैं. खुशबू का कहना है कि उनका उद्देश्य अब यह है कि राजस्थान जैसे सूखे प्रदेश में किसानों को खेती के लिए वह नए नए आइडिया को दे सकें. उनके मुताबिक अब तक उन्होंने 60 हजार से भी ज्यादा किसानों को इसके गुण सिखा चुके हैं.

इस बारे में ललित का कहना है कि राजस्थान में पानी की कमी कई बार किसानों के हौसले को तोड़ देती है और ऐसे में कम पानी की वजह से किसान बिल्कुल ही टूट जाते हैं. लेकिन हम पूरे राजस्थान में घूम-घूम कर किसानों को यह सारी बातें बता रहे हैं कि कम पानी में भी कैसे ज्यादा उपज हासिल कर सकते हैं या कम पानी में कौन-कौन सी फसलें सही है और ऑर्गेनिक फार्मिंग से कैसे पैसा कमाया जा सकता है.