कैसे हुआ था जनरल बिपिन रावत का हेलीकॉप्टर क्रैश? रक्षा मंत्री को सौंपी जांच रिपोर्ट

तमिलनाडु के सुलूर एयरबेस से वेलिंग्टन में डिफेंस सर्विस स्टाफ कॉलेज जाते वक्त वायुसेना के MI-17V5 हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। और इस हादसे में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत (General Bipin Rawat) समेत 12 अन्य शूरवीर शहीद हो गए थे. हादसे में जनरल रावत की पत्नी की भी मौत हो गई थी।

Bipin Rawat Accident

नई दिल्ली: तमिलनाडु के कुन्नूर में 8 दिसंबर को हुए हेलीकॉप्टर हादसे की जांच पूरी हो गई है और सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक जांच रिपोर्ट रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को सौंप दी गई है। बता दें कि इस हादसे में वायुसेना का MI-17V5 हेलीकॉप्टर क्रैश हो गया था और इसकी जांच ट्राई सर्विसेज की टीम ने की है।

See also  प्रधानमंत्री मोदी द्वारा लाल किले से पेट्रोल और गैस को लेकर बड़ी घोषणा

जनरल बिपिन रावत समेत 14 लोगों की मौत

एक IAF MI-17V5 हेलीकॉप्टर तमिलनाडु के सुलूर एयरबेस से वेलिंगटन में डिफेंस सर्विस स्टाफ कॉलेज जाते समय दुर्घटनाग्रस्त हो गया। इस हादसे में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और 12 अन्य योद्धा शहीद हो गए। इस हेलीकॉप्टर हादसे में जनरल रावत की पत्नी की भी मौत हो गई थी।

दुर्घटना किन परिस्थितियों में हुई?

एयर मार्शल मानवेंद्र सिंह के नेतृत्व में जांच दल ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को विस्तृत जानकारी दी और बताया कि यह दुर्घटना किन परिस्थितियों में हुई। इसके साथ ही टीम ने यह भी बताया कि वायुसेना का एमआई-17 हेलीकॉप्टर क्यों दुर्घटनाग्रस्त हुआ। रक्षा मंत्री के सामने प्रेजेंटेशन के दौरान जांच दल के साथ वायुसेना के वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद रहे।

See also  कुरुक्षेत्र : कोरोना संक्रमित महिला ने वेंटिलेटर पर दिया बच्ची को जन्म , मां बेटी के लिए दुआओं की जरूरत

ब्लैक-बॉक्स डेटा भी जांच रिपोर्ट में शामिल है।

जांच समिति ने वायुसेना और सेना के संबंधित अधिकारियों के बयान दर्ज किए। इसके साथ ही उन्होंने स्थानीय लोगों से भी बातचीत की जो इस हादसे के चश्मदीद गवाह थे. इसके अलावा जिस मोबाइल फोन से दुर्घटना से ठीक पहले वीडियो बनाया गया था, उसकी भी जांच की गई। घटनास्थल से एफडीआर यानी फ्लाइट डेटा रिकॉर्डर यानी दुर्घटनाग्रस्त हेलीकॉप्टर का ब्लैक बॉक्स भी बरामद किया गया है. उनका डेटा भी रिपोर्ट में शामिल किया गया है।

Leave a Reply