Haryana Weather Report: हरियाणा में 12 साल में तीसरी भीषण गर्मी, जानिए कब मिलेगी राहत

Haryana Weather Report | गर्मी का मौसम चल रहा है. और इस बार गर्मी सारे रिकॉर्ड तोड रही है. हरियाणा में भी मई महीने के आगे बढ़ने के साथ साथ गर्मी का कहर बढ़ रहा है. गुरुवार को साल का सबसे गर्म दिन रहा. पिछले बारह साल में तीसरी बार इतना अधिक पारा हुआ. हिसार के बालसमंद और सोनीपत के जगदीश में दोनों स्थानों पर अधिकतम तापमान 47.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. इससे पहले 29 अप्रैल को हिसार जिले में तापमान 46.2 डिग्री सेल्सियस पहुंचा था.

मौसम विभाग ने 14 मई तक भीषण गर्मी और प्रचंड लू का यलो अलर्ट जारी किया है. इतनी भीषण गर्मी में प्रदेशवासियों का बुरा हाल है. प्रदेश के तीन जिलों में पारा 47 और नौ जिलों में पारा 45 डिग्री सेल्सियस से अधिक रहा. अधिकतम तापमान सामान्य से तीन से 6 डिग्री सेल्सियस अधिक है. मौसम विभाग के अनुसार 16 मई के पश्चात मौसम में बदलाव आएगा. इससे राहत मिलने की संभावना है.

See also  Weather Alert : मौसम विभाग के वैज्ञानिकों का कहना पश्चिमी विक्षोभ दिखाएगा असर, इन दिनों में जबरदस्त बारिश

पारा बढ़ने का कारण

मौसम विभाग के अनुसार मरुस्थली हवाओं के चलने से प्रदेश में भीषण गर्मी पड़ रही है. जबकि कुछ जिलों में उमस वाली गर्मी भी पड़ रही है. अब रात के तापमान में भी बढ़ोतरी हो रही है.भारतीय मौसम विभाग के नारनौल स्थित सब सेंटर के नोडल अधिकारी डॉ. चंद्रमोहन ने इस बात की जानकारी दी.

गुरुवार को इतना रहा पारा

  • बालसमंद (हिसार) 47.4
  • जगदीशपुर (सोनीपत) 47.4
  • सिरसा (एडब्ल्यूएस) 47.2
  • टोहाना (फतेहाबाद) 46.0
  • महेंद्रगढ़ 45.8
  • रोहतक (एडब्ल्यूएस) 45.6
  • नारनौल 45.5
  • जींद 45.4
  • अंबाला 39.7
  • करनाल 39.6

जल्दी मिल सकती है राहत

मौसम विभाग ने गुरुवार को कहा कि अंडमान और निकोबार द्वीप में 15 मई को मानसून की पहली बारिश होने के आसार हैं. मौसम विभाग ने कहा कि दक्षिण-पश्चिम मानसून के 15 मई के आसपास दक्षिण अंडमान सागर और इससे लगते दक्षिणपूर्व बंगाल की खाड़ी पहुंचने की संभावना है.

See also  हरियाणा में बदलेगा मौसम, देखिए कब होने वाली है बारिश

इसी बीच पंचकुला में हलकी बारिश हुई. भीषण गर्मी के बीच पंचकूला, चंडीगढ़ में शाम को हल्की बारिश हुई. डॉ. चंद्रमोहन ने बताया कि हरियाणा के बीच से होकर एक तिरछी टर्फ रेखा के कारण मौसम में अस्थिर भी रहा. दोपहर बाद बादलों के साथ धूल भरी तेज हवाएं चलीं.