Haryana Pension Yojana : हरियाणा में करीब साढ़े तीन लाख बुजुर्गों की घटी पेंशन, यहां देखें जिलेवार सूची

Haryana Pension Yojana : हरियाणा में साल 2019 से अब तक करीब साढ़े तीन लाख बुजुर्गों की पेंशन में कटौती की जा चुकी है. दरअसल, परिवार के पहचान पत्र में दी गई आमदनी की वजह से ऐसा हुआ है. अब सरकार विपक्ष के विरोध के बाद पेंशन पात्रता में बदलाव करेगी।

 हरियाणा में वृद्धावस्था पेंशन बढ़ाने की तैयारी, विधानसभा की स्थायी समितियों ने की वृद्धि की सिफारिश

Whatsapp Group Join Now

Haryana Pension Yojana

हरियाणा वृद्धावस्था पेंशन योजना 2022: हरियाणा में पिछले तीन साल के दौरान साढ़े तीन लाख बुजुर्गों की पेंशन रोकी या काट ली गई है. डबवाली से कांग्रेस विधायक अमित सिहाग के सवाल पर राज्य सरकार ने 2019 से अब तक के पेंशन के आंकड़े सदन के पटल पर रखे.

 अब ये कोर्स करेंगे तो कमाएंगे महीने में एक से डेढ़ लाख रुपए

पेंशन काटने या रोकने का यह मामला सरकार द्वारा पेश किए गए परिवार पहचान पत्र (पीपीपी) के आने के बाद हुआ है। जिन लोगों ने पीपीपी पोर्टल पर पंजीकरण कराया है, उनकी आय अधिक दिखाई दे रही है, जिससे उनकी पेंशन रोक दी गई है या काट ली गई है।

See also  EPFO New Rules : आज से बदल जाएगा पीएफ खातों से जुड़ा ये नियम, 6 करोड़ कर्मचारियों को देना होगा टैक्स!

हालांकि, राज्य सरकार ने इस आय राशि को तय करने का विकल्प पहले ही दे दिया है और कहा है कि सरकार का इरादा 3.5 लाख रुपये सालाना तक के लोगों को पेंशन देने का है.

 हिसार का मोहब्बतपुर हत्याकांड: दोनों बहनें परीक्षा की तैयारियों में लगी थीं; पिता ने ली जान

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री ओम प्रकाश यादव ने सोमवार को सदन में अपने लिखित जवाब में 1 जनवरी 2019 से 28 फरवरी 2022 तक के आंकड़े पेश कर विपक्ष को संतुष्ट करने का प्रयास किया. यादव ने सदन में बताया कि 2 लाख 77 हजार 676 लोगों की पेंशन रोकी या काट ली गई है.

हरियाणा में 60 वर्ष की आयु के बाद वृद्धावस्था सम्मान पेंशन के रूप में बुजुर्गों को 2500 रुपये मासिक पेंशन मिल रही है। पेंशन उन्हीं बुजुर्गों को मिलती है, जिनकी सालाना आमदनी दो लाख रुपये से कम हो। सरकार ने दावा किया है कि पीपीपी पर रजिस्ट्रेशन के बाद सरकार ने सिर्फ उन्हीं बुजुर्गों की पेंशन रोकी है जिनकी सालाना आमदनी साढ़े तीन लाख रुपये से ज्यादा है.

See also  Petrol Diesel Price : होली के बाद जारी हुए पेट्रोल-डीजल के नए रेट, जानिए आज कितने मिलता है 1 लीटर fuel ?

हरियाणा सरकार पेंशन के लिए निश्चित आय सीमा को बढ़ाकर 3.5 लाख करने की तैयारी कर रही है। विधानसभा में विपक्षी दलों की ओर से यह मुद्दा भी उठाया जा रहा है कि सरकार 60 साल से ऊपर के सभी बुजुर्गों को पेंशन दे. इसमें वार्षिक आय की कोई शर्त नहीं होनी चाहिए।

पूर्व शिक्षा मंत्री और झज्जर कांग्रेस विधायक गीता भुक्कल के सवाल पर मंत्री ओमप्रकाश यादव ने कहा कि 18 से 60 वर्ष की आयु के विकलांगों को 2500 रुपये मासिक पेंशन दी जा रही है, जो 60 से 100 प्रतिशत तक विकलांग हैं. वहीं, सरकार 18 वर्ष की आयु के उन बच्चों को हर साल 1900 रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान कर रही है जो स्कूल नहीं जा सकते।

See also  Battlegrounds Mobile India गेम में दिन भर में लगे रहते हैं बच्चे? इस तरह से लिमिट कर सकते हैं सेट

जानिए किस जिले में कितनों की पेंशन कटी या रुकी ( Haryana Pension Yojana )

जिला डेटा

पंचकुला 4204
अंबाला 16689
यमुनानगर 15210
कुरुक्षेत्र 13718
करनाल 18251
पानीपत 11791

सोनीपत        15262
झज्जर           11493
गुरुग्राम         7367
फरीदाबाद    9971
पलवल        10217
मेवात           7502
रेवाड़ी          10325
महेंद्रगढ़       12998
दादरी           6195
भिवानी         11988

पेंशन से लेकर पंच तक किसानों को मुआवजा विधायकों ने बनवाए किलेबंदी ( Haryana Pension Yojana)

हरियाणा विधानसभा में सोमवार को विधायकों ने प्रश्नकाल के दौरान कई ऐसे मुद्दे उठाए, जिनका सीधा संबंध पूरे राज्य से है. विधायकों ने पंचों को पेंशन, किसानों को मुआवजा, स्वास्थ्य सुविधाएं, अवैध खनन, सड़ी सड़कें और आईएमटी समेत कई अन्य सवाल पूछे. इसके जवाब में संबंधित मंत्रियों ने योजनाओं और परियोजनाओं पर चल रहे कार्यों की रिपोर्ट सदन में रखी.

Leave a Reply