Unemployment Rate March 2022: बेरोजगारी दर में नंबर वन हरियाणा, जानिए

हाल ही में सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी (सीएमआईई) ने अपने आंकड़े पेश किए हैं। आंकड़ों के अनुसार भारत में बेरोजगारी दर में हरियाणा नंबर वन पर रहा है। इसका सबसे बड़ा कारण कोरोना वायरस की वजह से लगे लोक डाउन को माना जा सकता है। लेकिन जैसे धीरे-धीरे परिस्थितियां सामान्य हो रही हैं, अर्थव्यवस्था भी सामान्य दर पर आ रही है और इसके साथ ही बेरोजगारी दर भी घट रही है। सीएमआईई के मासिक आंकड़ों के अनुसार देश में बेरोजगारी दर फरवरी में 8.10 प्रतिशत थी जो अब मार्च में घट कर 7.6 प्रतिशत रह गई है। दो अप्रैल को यह आंकड़ा और घट कर 7.5 प्रतिशत रह गया। शहरी बेरोजगारी की दर 8.5 प्रतिशत और ग्रामीण क्षेत्रों में यह दर 7.1 प्रतिशत रही। इस संदर्भ में भारतीय सांख्यिकीय संस्थान के रिटायर्ड प्रोफेसर अभिरूप सरकार ने कहा है कि कोरॉना महामारी के बाद भारतीय अर्थवयवस्था पर जो प्रभाव पड़ा था उसके बाद धीरे-धीरे अर्थव्यवस्था अपनी पटरी पर आ रही है। लेकिन भारत जैसे गरीब देश के लिए रोजगारी दर अभी भी काफी ऊंची है। ऐसा विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों में है। क्योंकि ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को आसानी से रोजगार नहीं मिल पाता। इसलिए वे कमाने के लिए किसी भी काम के लिए हां कर देते हैं।

See also  PM MODI News 2022 : वाराणसी में पीएम मोदी का मेगा रोड शो, आखिरी चरण के लिए फूंका बिगुल

*बाकी राज्यों के आंकड़े*

आंकड़ों के अनुसार हरियाणा की बेरोजगारी दर मार्च में 26.7 प्रतिशत रही। राजस्थान और जम्मू कश्मीर में ये दर 25-25 प्रतिशत रही। बिहार में बेरोजगारी दर 14.4 प्रतिशत, त्रिपुरा में 14.1 प्रतिशत और पश्चिम बंगाल में 5.6 रही। अप्रैल 2021 में कुल बेरोजगारी की दर 7.97 थी। पिछले साल मई में यह दर 11.84 प्रतिशत पर पहुंच गई थी, जो कि उच्चतम था। मार्च 2022 में कर्नाटक और गुजरात की बेरोजगारी दर सबसे कम रही, जो कि 1.8-1.8 प्रतिशत थी।