Haryana News In Hindi : राकेश टिकैत तथा अन्य 12 किसान नेताओं पर FIR दर्ज

किसान आंदोलन : भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत तथा अन्य पर किसान नेताओं पर एफ आई आर दर्ज की गई है। इन सभी नेताओं पर धारा 144 का उल्लंघन करने का आरोप लगा है। आपको बता दें कि सभी किसान नेताओं ने कोरोनाकाल में लगी धारा 144 के बावजूद भी महापंचायत का आयोजन किया गया था।

पुलिस का बयान :

पुलिस ने बताया है कि हमने किसान नेताओं को पहले ही महापंचायत न करने के लिए कहा था। लेकिन उन्होंने हमारी एक भी नहीं सुनी। हमने उनको बताया था कि हरियाणा राज्य में धारा 144 लगा दी गई है। किसी भी प्रकार की महापंचायत के लिए कोई भी मंजूरी नहीं दी जाएगी। लेकिन किसान नेता बाज नहीं आए और उन्होंने शनिवार को एक महापंचायत का आयोजन किया। आपको बता दें कि यह महापंचायत धुराली गांव में की गई थी।
असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर चांदी सिंह ने किसान नेताओं को चेतावनी देते हुए कहा था कि  राज्य में धारा 144 लगा दी गई है। इस स्थिति में कोई भी महापंचायत नहीं की जानी चाहिए। लेकिन किसान नेताओं ने किसी की भी नहीं सुनी तथा शनिवार को महापंचायत का आयोजन किया था।

महापंचायत में राकेश टिकैत का ऐलान :

See also  COVID-19: हरियाणा में भैंस के बच्चे में मिला कोरोना का नया वेरिएंट 'बुवाइन'

राकेश टिकैत ने महापंचायत में कहां है कि हम किसान आंदोलन खत्म नहीं करने वाले हैं। किसान आंदोलन कोरोना काल में भी जारी रहेगा। उन्होंने अपने पुराने मांगों को दोहराते हुए कहा है कि किसान पीछे नहीं हटेंगे, जब तक तीनों कृषि कानून वापस नहीं लिए जाएंगे।

FIR पर राकेश टिकैत का बयान :

किसान नेताओं के खिलाफ धारा 144 188 269 270 के तहत मामला दर्ज किया गया है। किसान नेताओं पर आरोप है कि इन्होंने कोरोनावायरस ऑल डिस्टेंसिंग का ख्याल नहीं रखा तथा भीड़ इकट्ठा की। इतना सब कुछ हो जाने के बाद भी राकेश टिकैत झुकने को तैयार नहीं है। वह इन सभी आरोपों को गलत बता रहे हैं। उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा है कि हमने सभी नेताओं को कोरोना प्रोटोकॉल का पालन किया जाए। राकेश टिकैत ने हरियाणा सरकार पर निशाना साधते हुए कहां है कि अस्पतालों को ऑक्सीजन मिल भी नहीं रही है। मरीजों को दर-दर भट्ट खाया जा रहा है। सरकार कोरोना वायरस का डर दिखाकर किसान आंदोलन को खत्म करना चाहती है।

See also  चरखी दादरी: दो ट्रकों की आमने-सामने जबरदस्त टक्कर, आग लगने से परिचालक जिंदा जला

Leave a Reply