हरियाणा सरकार का बड़ा प्लान: स्कूल से निकलते ही बच्चे हो जाएंगे अपने पैरो पर खड़े

हरियाणा सरकार | पूरे प्रदेश में 27 मई को 900 स्कूलों में 10वीं और 12वीं के करीब 50 हजार छात्रों को जिला स्तर, ब्लॉक स्तर और स्कूली स्तर पर वोकेशनल छात्रों को ये टूल किट दी जाएंगी.

हर रोज की ताजा खबर | जॉब | योजना की सबसे पहले अपडेट पाने के लिए आप हमारे व्हाट्सएप और टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ सकते है- Join Whatsapp Group | Join Telegram Group 

केंद्र सरकार की योजना स्किल इंडिया की दिशा में हरियाणा सरकार ने अब नियम बनाने को जा रहे हैं. स्कूली स्तर पर छात्रों को पढाई के साथ साथ दूसरे स्किल की जानकारी दी जाएगी .जैसे की स्कूल से निकलते ही बच्चे अपने पैरो पर खड़े हो जाए. इसी को लेकर विभाग की और से कौशल आधारित टूल किट छात्रों को बांटी जा रही है.

See also  परिवार की वार्षिक आय है ढाई लाख से कम तो हरियाणा सरकार खिलाड़ियों को देगी छात्रवृत्ति

कार्यक्रम में जिला उपायुक्त के साथ ब्लॉक सत्र तक के सभी अधिकारी तथा स्थानीय लोगों को कार्यक्रम में शामिल होने के लिए निमंत्रित किया गया है. विभाग की तरफ से यह टूल किट छात्रों को दी जाएगी. उसमें वोकेशनल एजुकेशन, हेल्थकेयर, मोटर वाहन, सौंदर्य और कल्याण, कृषि, परिधान निर्माण और घरेलू फर्नीचर सहित सभी टूल किट छात्रों को दी जाएगी.

शिक्षा विभाग का इसके पीछे एक मकसद है कि पढ़ाई के साथ साथ कुछ व्यवसायिक गतिविधियों को सीखें. व्यवसायिक गतिविधियां सीखने के बाद उनको किसी के ऊपर निर्भर रहने की जरूरत नहीं पड़ेगी. इतने बड़े स्तर पर छात्रों को टूल किट देने वाला हरियाणा देश का पहला राज्य है .

See also  School Reopen: 86 दिन बाद खुलेंगे हरियाणा के स्कूल, अभिभावकों की अनुमति पर ही मिलेगा स्कूल में प्रवेश

हर रोज की ताजा खबर | जॉब | योजना की सबसे पहले अपडेट पाने के लिए आप हमारे व्हाट्सएप और टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ सकते है- Join Whatsapp Group | Join Telegram Group 

इस योजना से पहले शिक्षा विभाग की ओर से डिजिटल एजुकेशन की पहल करते हुए सरकारी स्कूल के बच्चों को टेबलेट बांटी गई. इन सभी योजनाओं से सरकार का मुख्य उद्देश्य यह है की स्कूल से निकलते ही ये बच्चे अपने पैरों पर खड़े हों और अपना रोजगार खुद चुने . इस कार्यक्रम को लेकर विभाग की ओर से स्कूल प्रिंसिपल तथा जिला सत्र के अध्यापकों की ड्यूटी लगा रखी है.