हरियाणा सरकार लोगों को देगी 250 रुपये, जानिए क्या है वजह?

चंडीगढ़ | अब हरियाणा सरकार 11 लाख परिवारों को सरसों का तेल खरीदने के लिए 250-250 रुपये देगी, दरअसल डिपो पर सरसों का तेल बंद करने से आ रही समस्याओं के कारण खट्टर सरकार ने ऐसी एक योजना बनाने का फैसला किया है, जानकारी के मुताबिक साथ ही नमक भी जल्द भेजे जाने का वादा किया है.

हरियाणा में 11 लाख परिवारों के खातों में सरसों के तेल की एवज में 250 रुपये प्रतिमाह किये जाएंगे डीबीटी से ट्रांसफर.

हैफेड ने बताया है कि उसके पास सरसों के तेल का पर्याप्त मात्रा में स्टॉक नहीं है, जिसके चलते सरकार ने यह निर्णय लिया है.

See also  चाचा गया था बेटी को दवाई दिलाने, बाद में भतीजे ने किया चाची के साथ गंदा काम

Free Ration Mein Kya Kya Milta Hai

सरसों का भाव MSP से ऊपर:

इस बार किसानों की सरसों के भाव MSP रेट को लांघते हुए ऊपर निकल गए. इसी प्रक्रिया के चलते मंडियों में सिर्फ 25 लाख क्विंटल सरसों पहुंची, वहीं मंडियों से बाहर 50 लाख क्विंटल सरसों की बिक्री हुई. इस वजह से हर बार अच्छी मात्रा में सरसों की खरीद करने वाले हैफेड अबकी बार पूरी खरीद नहीं कर पाए, और व्यापारियों ने इसका डबल स्टॉक कर लिया, इसलिए उन्होंने सरसों के तेल की कीमत 60 रुपये से बढ़ा कर दो गुना से अधिक कर दी.

इस समय हैफेड के पास सरसो का स्टॉक न होने की वजह से, तेल डिपो पे नहीं भेजा जा सकता. खाद्य एवं आपूर्ति विभाग ने अपनी तरफ से पत्र जारी कर यह सूचना दी है. के मुताबिक सरकार ने फैसला लिया है कि प्रत्येक जरूरतमंद व्यक्ति के खाते में सरसों का तेल खरीदने के लिए 250 रुपये डाले जाएंगे, साथ ही सरकार ने कहा है कि यह व्यवस्था तब तक जारी रहेगी, जब तक कि हैफेड के पास सरसों का स्टॉक उपलब्ध न हो जाए.

See also  Rewari Live News: IGU में पढ़ रही M.SC की छात्रा ने पीजी में की खुदकुशी

एक सरकारी प्रवक्ता के मुताबिक़ तालाबंदी के दौरान कॉन्फेंड नमक 1 किलोग्राम की पैकिंग की व्यवस्था न कर सका, इस वजह से जून माह में नमक का वितरण नहीं किया जा सकेगा, बता दें कि पैकिंग की व्यवस्था होने पर नमक का वितरण शुरू कर दिया जाएगा.

Leave a Reply