हरियाणा शिक्षा विभाग ने प्राथमिक स्कूलों में साफ-सफाई, हाउसकीपिंग के लिए बजट किया जारी

हरियाणा शिक्षा विभाग | हरियाणा के राजकीय विद्यालयों में सफाई की व्यवस्था अच्छी नहीं थी। एक तरफ स्कूलों में सफाई व्यवस्था की स्थिति बदहाल थी। दूसरी तरफ स्कूलों को पोर्टल पर आनलाइन स्कूल व्यवस्था की स्थिति दर्शानी होती थी। जिले या राज्य में प्रथम आने पर स्कूल को प्रोत्साहित भी किया जाता था। इसके लिए स्कूल में सफाई से लेकर ग्राउंड व बागवानी की व्यवस्था बेहतर होना जरूरी था। असल में ऐसा स्कूलों में नहीं था।

इस समस्या के हल के लिए शिक्षा विभाग की ओर से राजकीय प्राथमिक विद्यालयों में साफ-सफाई, हाउसकीपिंग व बागवानी काम करवाने आदि के लिए बजट जारी कर दिया है। इसके तहत एसएमसी यानी स्कूल मैनेजमेंट कमेटी अपने स्तर पर काम करवा सकेगी। इससे स्कूल में साफ-सफाई की व्यवस्था में सुधार करवाया जा सकेगा। साथ ही हाउसकीपिंग व बागवानी का काम करवाकर व्यवस्था सुधरेगी।

See also  हरियाणा प्रेस: बेरोजगार युवाओं के लिए बड़ी ख़बर, हरियाणा में निकलेंगी बंपर भर्तियां

जानिए किन स्कूलों को मिलेगी ये सुविधा

यह सुविधा उन स्कूलों को मिलेगी, जहां पर चौकीदार नहीं है। जिन स्कूलों में पहले से चौकीदार है, उनको यह सुविधा नहीं मिलेगी। शिक्षा विभाग के अनुसार उन चाैकीदारों से ही स्कूल, सफाई व बागवानी का काम करवाया जाएं।

ये शर्तें की गई लागू

इस बजट से एसएमसी स्कूल परिसर की सफाई, चाहरदीवारी के बाहर व छत की सफाई, शौचालय, खेल मैदान व जलभराव का प्रबंध आदि काम करवा सकती है।

किसी भी व्यक्ति से कोई आंशिक, अल्पकालिक, पूर्णकालिक व अनुबंध या नियुक्ति ना की जाएं। अगर कोई पालन नहीं करता है तो स्कूल मुखिया जिम्मेदार होंगे।

See also  HBSE Result 2022: जानिए कब जारी होगा हरियाणा बोर्ड का 10 वीं 12 वीं का रिजल्ट

एसएमसी ही निर्णय करे कि किसे काम पर रखना है और कौन सा काम करवाना है।

सभी स्कूलों में राशि का भुगतान एसएमसी कमेटी द्वारा होगा।