हरियाणा कांग्रेस: अब शैलजा की जगह हुड्डा को प्रदेश अध्यक्ष बनाने की उठ रही है मांग, दो टीमों में बटे विधायक

हरियाणा कांग्रेस| पंजाब का विवाद अभी तक थमा नहीं है कि हरियाणा मे कांग्रेस नेतृत्व की मुश्किलें और अधिक बढ़ा दी हैं. हरियाणा में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी शैलजा के बीच टकराव देखने को मिल रहा है. हुड्डा समर्थक विधायकों ने संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल से मुलाकात कर कुमारी शैलजा को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से हटाने की मांग की है.

Haryana Congress Live News Hindi

आपको बता दें कि संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल से मुलाकात से पहले हुड्डा समर्थक विधायक नेता उनके दिल्ली स्थित घर पर गए थे. वेणुगोपाल से मुलाकात के दौरान विधायकों ने कुमारी शैलजा को हटाकर हुड्डा को प्रदेश अध्यक्ष बनाने की मांग की है. साथ ही राज्य में संगठन बदलाव में विधायकों की राय भी ली जा रही है. पिछले सप्ताह 19 विधायकों ने प्रदेश प्रभारी विवेक बंसल से मुलाकात की, जहा पर हुड्डा को प्रदेश अध्यक्ष बनाने की मांग करी गई थी.

See also  हरियाणा के पूर्व सीएम की कार दुर्घटनाग्रस्त, ओम प्रकाश चौटाला बाल बाल बचे

कांग्रेस के एक विधायक ने यह कहा है कि नेतृत्व परिवर्तन पर हमने अपनी बात बता दी है. अब फैसला नेतृत्व को करना है वही विधायक कुलदीप वत्स ने कहा कि संगठन को अत्यधिक मजबूत करने की आवश्यकता है. प्रदेश अध्यक्ष पर फैसला तो नेतृत्व का ही होगा. हरियाणा में कांग्रेस के कुल 31 विधायक हैं. इनमें से 20 विधायक हुड्डा समर्थक माने जाते हैं, यह विधायक लगातार दबाव बना रहे हैं.

शैलजा और हुड्डा की लड़ाई है बहुत पुरानी:

भूपेंद्र सिंह हुड्डा और कुमारी शैलजा की यह लड़ाई आज की नहीं बल्कि बहुत पुरानी है. इससे पहले भी कई बार दोनों नेता आपस में जोर आजमाइश कर चुके हैं. शैलजा के करीबी नेताओं का कहना है कि हुड्डा जानबूझकर ऐसा करते हैं क्योंकि प्रदेश संगठन में परिवर्तन होने वाला है. उनको डर है कि उनकी पकड़ कमजोर पड़ रही है, इसलिए वह पार्टी नेतृत्व पर दबाव डाल रहे हैं.

Leave a Reply