सरकारी टेबलेट का सुरक्षा सिस्टम हुआ फेल, पढ़ाई छोड़ विद्यार्थी चला रहे सोशल साइट्स

सरकारी टेबलेट | हरियाणा शिक्षा विभाग द्वारा गर्मियों की छुट्टी में विद्यार्थियों को टेबलेट दिए गए थे. हरियाणा शिक्षा विभाग का मुख्य उद्देश्य बच्चों की पढ़ाई में रुकावट का ना आने देना था. परंतु हरियाणा शिक्षा विभाग की यह पहल नाकाम होती जा रही है. विद्यार्थी बिना पढ़ाई किये मनचाहे ढंग से टैबलेट को चला रहे हैं. अगर बात की जाए सोनीपत की सोनीपत में 90 फ़ीसदी टेबलेट बाटने अभी बाकी हैं. दूसरी तरफ जितने टेबलेट बांटे गए हैं उनको लेकर विभाग ने जो सुरक्षा दावे किए थे वह भी खोखले साबित होते जा रहे हैं. इन सब का एक ही मुख्य कारण है कि विद्यार्थियों द्वारा टेबलेट का गलत प्रयोग किया जा रहा है.

See also  HBSE 12वीं कक्षा का परिणाम: आउट ऑफ सिलेबस थे केमिस्ट्री के 3 प्रश्न, सभी को मिलेंगे 5 अंक

Whatsapp Group Join Now: Click Here

टेबलेट के इस्तेमाल से बच्चे हो रहे हैं पढ़ाई से दूर

शिक्षा विभाग के सरकारी टेबलेट में जो सिक्योरिटी सिस्टम है वह फेल होता नजर आ रहा है. परेशान अभिभावकों का कहना है कि बच्चों द्वारा डाटा का भरपूर इस्तेमाल किया जा रहा है परंतु इसका इसतेमाल पढ़ाई में ना होकर गेम तथा अन्य ऐप में किया जा रहा हैं. ऐसे में अगर उनका बच्चा बिगड़ जाएगा तो इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा. अभिभावकों का कहना है कि बच्चों का ध्यान पढ़ाई से दूर हो रहा है. हरियाणा शिक्षा विभाग ने दावा किया था कि टैब बांटने के दौरान मोबाइल डिवाइस मैनेजमेंट सिस्टम लगा होगा जो कि विद्यार्थियों को अन्य वेबसाइट, गेम आदि का इस्तेमाल करने पर नियंत्रण करेगा. लेकिन अब ऐसा कोई कंट्रोल नजर नहीं आ रहा है.

See also  HBSE Exam Update: 44 परीक्षा केंद्रों पर 29 सितंबर से शुरू होंगी सेकेंडरी व सीनियर सेकंडरी की परीक्षाएं, 30,584 विद्यार्थी होंगे शामिल

विद्यार्थियों द्वारा यूट्यूब, इंस्टाग्राम तथा फेसबुक का अत्यधिक इस्तेमाल किया जा रहा है. टैब को खुलते ही सबसे पहले उस में पढ़ाई से संबंधित ऐप दिखाई देते हैं. परंतु उसे रिसेट करने के बाद पूरा ऐप स्टोर खुल जाता है. बहुत सारी वीडियोस भी वायरल हो रही है जिसमें सभी ऐप खोलने का विवरण अच्छे से बताया गया है.

ज्यादातर विद्यार्थियों की सिम अभी तक एक्टिवट नही

सोनीपत में टैबलेट तो 20100 पहुंच चुके हैं. लेकिन जिन दो कंपनियों एयरटेल व जिओ से सिम लेने के समझौते हुए हैं. उनकी तरफ से अब तक पूरे सिम ही एक्टिवेट नहीं किए गए हैं.गर्मी की छुट्टियों में 10वीं व 12वीं कक्षा की ऑनलाइन पढ़ाई करवाने की जो योजना बनाई थी, परंतु वह नाकाम होते हुए प्रतीत हो रही है.

See also  12वीं का रिजल्ट घोषित, 498 अंकों के साथ रोहतक की काजल ने मारी बाजी, देखिए टोपर लिस्ट

Whatsapp Group Join Now: Click Here