शिक्षा विभाग ने लिया बड़ा फैसला, स्कूलों में लगेंगे सोलर पैनल

शिक्षा विभाग | गर्मी के मौसम में अक्सर ही बिजली चली जाती है। इससे विद्यार्थियों को गर्मी के मौसम में पढ़ाई के दौरान परेशानी होती है. बच्चों की पढ़ाई बाधित होती है. शिक्षा विभाग ने विद्यार्थियों की इस समस्या को देखते हुए सरकारी स्कूलों में सोलर पैनल लगाने का निर्णय लिया है. इसमें से सबसे ज्यादा स्कूल उचाना ब्लाक के हैं.

गर्मी के मौसम में ओवर लोड होने के चलते बिजली फाल्ट अधिक रहते हैं. बिजली जाने पर कमरों में पंखे बंद होने व लाइट जाने पर विद्यार्थी पढ़ाई नहीं कर पाते. सरकारी स्कूलों में सुविधाओं के अभाव में अभिभावक अपने बच्चों का दाखिला निजी स्कूलों में दाखिला दिलवाने में रुचि दिखाते हैं. सरकारी स्कूलों में विद्यार्थियों की संख्या बढ़ाने के उद्देश्य से शिक्षा विभाग सुविधाओं में लगातार इजाफा कर रहा है. इसके तहत सरकारी स्कूलों में सोलर पैनल लगाए जाएंगे.

See also  हरियाणा के 2149 स्कूलों में दाखिले का डाटा अपडेट नहीं, सरकार ने दी कार्रवाई करने की चेतावनी

32 स्कूलों में लगेंगी सोलर पैनल

जिलेभर के 32 स्कूलों में सोलर पैनल लगाए जाएंगे. इसमें सबसे ज्यादा स्कूल उचाना ब्लाक में हैं. सोलर पैनल लगने पर विद्यार्थियों को गर्मी के माैसम में पढ़ाई करने के दौरान परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा. अक्सर बिजली चले जाने पर विद्यार्थियों को गर्मी के मौसम में ज्यादा दिक्कत होती है, जो सोलर पैनल लगने के बाद दूर होगी. विभाग का प्रयास है कि विद्यार्थियों को ज्यादा से ज्यादा सुविधा दी जाए.

बाकी स्कूलों में भी जल्द ही मिलेगी सुविधा

जिलेभर में लगभग 750 सरकारी स्कूल हैं, जिसमें डेढ़ लाख से ज्यादा विद्यार्थी पढ़ाई करते हैं. हालांकि स्कूलों की संख्या के हिसाब से फिलहाल कम ही स्कूलों में सोलर पैनल लगेंगे. आने वाले दिनों में और भी स्कूलों में सोलर पैनल लगने की उम्मीद है.