हरियाणा सरकार की तरफ से किसानों को मूंग के बीज पर 90 फ़ीसदी छूट और साथ में ₹4000 की सहायता👇🏻👇🏻👇🏻

हरियाणा सरकार की ओर से जिला में फसल विविधीकरण के तहत 19400 एकड़ में बाजरे की खेती की जगह तिल, उड़द ,अरहर, मूंग ,अरंडी ,आदि 5 फसलों की बिजाई करने का लक्ष्य मिला है । आपको बता दें, कि सरकार द्वारा “मेरी फसल मेरा ब्योरा” पोर्टल पर पंजीकरण करवाने वाले किसानों को मूंग की फसल 7275 रुपए प्रति क्विंटल न्यूनतम समर्थन मूल्य के हिसाब से दी जाएगी ।

 

रजिस्ट्रेशन) हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्यौरा 2021: ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म PDF, Meri Fasal Mera Byora Yojana Details in Hindi

उपायुक्त अजय कुमार के दिशा निर्देश अनुसार गत दिवस कृषि कार्यालय में फसल विविधीकरण योजना के संबंध में जिला स्तर की बैठक का आयोजन किया गया था । उप कृषि निदेशक डॉक्टर वजीर सिंह ने बताया, कि जो किसान फसल विविधीकरण योजना के तहत “मेरी फसल मेरा ब्योरा” पोर्टल पर बाजरा की जगह मूंग का पंजीकरण करवाकर मूंग की खेती करेगा । उसे सरकार की तरफ से ₹4000 की सहायता के साथ-साथ 90 फ़ीसदी छूट पर मूंग का बीज सरकारी दुकान पर उपलब्ध कराया जाएगा ।

आपको बता दें , कि उन्होंने बताया है कि हरियाणा सरकार की ओर से जिला में फसल विविधीकरण के तहत 19400 एकड़ में बाजरे की जगह अरहर, उड़द, अरंडी, तिल, मूंग ,आदि 5 फसलों की बिजाई करने का लक्ष्य रखा गया है । सरकार द्वारा “मेरी फसल मेरा ब्योरा” पोर्टल पर पंजीकरण कराने वाले किसानों की मूंग की फसल 7275 रुपए प्रति क्विंटल न्यूनतम समर्थन मूल्य के सामने खरीदा जाएगा ।

बता दें ,कि उप कृषि निदेशक ने बताया है कि अगर किसान इन फसलों को लगाता है । तो उसे राज्य सरकार की तरफ से प्रति एकड़ ₹4000 प्रोत्साहन के रूप में राशि प्रदान की जाएगी । इसके लिए किसान को मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर पंजीकरण करवाना होगा । उन्होंने कहा कि 1 एकड़ में 6 से 7 क्विंटल तक मूंग की पैदावार ली जा सकती है । उन्होंने बताया कि मूंग की फसल 60 से 70 दिन में पक कर तैयार हो जाती है । उन्होंने बताया कि मूंग की फसल के बाद सरसों फसल की बिजाई की जा सकती हैन। उन्होंने यह भी बताया कि मूंग की खेती करने से ना केवल किसान की आमदनी बढ़ेगी । बल्कि साथ-साथ खेत की उपजाऊ क्षमता भी अधिक अच्छी होगी जिस से आने वाली फसलों को लाभ प्राप्त होगा ।

Leave a Reply