Deltacron Corona New Variant 2022 : ओमाइक्रोन और डेल्टा के बाद आया कोरोना का नया वेरिएंट Deltacron, इस देश में पहला केस

Deltacron Corona New Variant :  डेल्टा और ओमाइक्रोन के बाद अब नया वेरिएंट डेल्टा आयरन आ गया है। ब्रिटेन से डेल्टा आयरन के कुछ मामले सामने आए हैं, जिसने एक बार फिर स्वास्थ्य विशेषज्ञों और लोगों की चिंता बढ़ा दी है।

 Deltacron Corona New Variant

Deltacron Corona New Variants : एक के बाद एक कोरोना वायरस के नए वेरिएंट सामने आ रहे हैं. डेल्टा और ओमाइक्रोन के बाद अब नया वेरिएंट डेल्टाक्रॉन आ गया है। यह डेल्टा और ओमाइक्रोन से बना एक हाइब्रिड स्ट्रेन है। ब्रिटेन से डेल्टाक्रॉन के कुछ मामले सामने आए हैं, जिसने एक बार फिर स्वास्थ्य विशेषज्ञों और लोगों की चिंता बढ़ा दी है। हालांकि ब्रिटेन की स्वास्थ्य सुरक्षा एजेंसी (यूकेएचएसए) का कहना है कि उन्हें अभी इसकी चिंता नहीं है क्योंकि इसके मामले कम हैं।

See also  Uttarakhand : यहां मिली अब तक की सबसे बड़ी गुफा, अंदर बने शिवलिंग को देखकर दंग रह जाएंगे आप!

डेल्टाक्रॉन के मामले ब्रिटेन से सामने आ रहे हैं ( Deltacron Corona New Variants )

जानकारी के मुताबिक यूकेएचएसए के विशेषज्ञ यह भी नहीं जानते कि कोरोना का यह नया रूप कितना संक्रामक या गंभीर है। उन्हें फिलहाल यह भी नहीं पता है कि इसके लक्षण क्या हैं और वैक्सीन इसके खिलाफ कितनी कारगर है। हालांकि, संक्रामक रोग विशेषज्ञ प्रोफेसर पॉल हंटर को डेली मेल ने यह कहते हुए उद्धृत किया कि इससे बहुत अधिक खतरा नहीं होना चाहिए, क्योंकि यूके में डेल्टा और ओमाइक्रोन के खिलाफ एंटीबॉडी मौजूद हैं।

डेल्टाक्रॉन डेल्टा और ओमाइक्रोन का एक संकर संस्करण है

विशेषज्ञों के अनुसार यह एक सुपर-सुपर-म्यूटेंट वायरस है, जिसका वैज्ञानिक नाम BA.1 + B.1.617.2 है। विशेषज्ञों ने कहा है कि डेल्टा और ओमाइक्रोन से बना एक हाइब्रिड स्ट्रेन है, जिसकी खोज सबसे पहले पिछले महीने साइप्रस के शोधकर्ताओं ने की थी। उस समय वैज्ञानिकों ने इसे लैब में तकनीकी गलती माना था। लेकिन अब ब्रिटेन में मामले सामने आ रहे हैं.

See also  क्या दिल्ली में फिर से लगेगा लॉकडाउन? सीएम केजरीवाल ने किया ये बड़ा ऐलान

WHO ने डेल्टाक्रॉन पर क्या कहा?

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने बताया था कि एक व्यक्ति के लिए SARS-CoV-2 के विभिन्न रूपों से संक्रमित होना संभव है। इसके कई उदाहरण हैं। इस महामारी के दौरान लोग इन्फ्लूएंजा और कोविड-19 दोनों से संक्रमित थे। डब्ल्यूएचओ की मारिया वान केरखोव ने पिछले महीने ट्वीट किया था कि ‘डेल्टाक्रॉन जैसे शब्दों का प्रयोग न करें। ये शब्द वायरस/वेरिएंट के संयोजन को इंगित करते हैं और ऐसा नहीं हो रहा है।

Aaj Ka Rashifal 19 February 2022: मकर, कुम्भ राशि वालों को आर्थिक मामलों में सावधानी बरतनी होगी

Leave a Reply