Whatsapp पर चल रहा डिलीवरी का scam, हो सकता है सारा बैंक बैलेंस खाली, ऐसे रहे सतर्क

Table of Contents

जब से दुनिया में यह कोरोनावायरस की महामारी फैली है । तब से अधिकतर लोग ऑनलाइन पर शिफ्ट हो रहे हैं और इसी कारण ऑनलाइन घोटालों में भी वृद्धि हुई है । आपको बता दें , कि सिक्योरिटी रिसर्च ने व्हाट्सएप यूजर्स को हाल ही में चल रहे डिलीवरी स्कैम के बारे में चेतावनी देते हुए कहा है , कि यह स्कैमर व्हाट्सएप के माध्यम से मलेशियन लिंक वाले मैसेज करते हैं । और यूजर को उनके ऑनलाइन ऑर्डर के बारे में सूचित करते हैं और निर्दोष यूजर इन घोटालों के शिकार हो जाते हैं और अपने सारे बैंक बैलेंस को खाली करवा लेते हैं ।

WhatsApp scam warning issued over message which can empty bank account - Chronicle Live

आपको बता दें, कि kaspersky लैब के रूसी सिक्योरिटी रिसर्च ने पैकेज डिलीवरी स्कैम के बारे में चेतावनी जारी की है । जो बढ़ रहे हैं और इस रिसर्च में है खुलासा किया गया है कि हमलावर ऑनलाइन डिलीवरी कंपनियों के अधिकारियों के रूप में सामने आए फिर वे उस यूजर को एक पैकेट के बारे में सूचित करते हैं । और उसके निवास स्थान पर डिलीवर होता है हालांकि यह प्रक्रिया उतनी भी सहज नहीं है जितनी की दिखाई दे रही है

WhatsApp users beware! Malicious delivery update links could empty your bank accounts | Technology News | Zee News

प्राप्तकर्ता द्वारा पेमेंट की जरूरत वाले एक्सपेक्टेड पार्सल इस पिछली तिमाही में सबसे आम ट्रिक्स में से एक रहे। ‘मेल कंपनी’ के invoice का कारण सीमा शुल्क से लेकर शिपमेंट लागत तक कुछ भी हो सकता है। सेवा के लिए भुगतान करने का प्रयास करते समय, जैसा कि मुआवजा धोखाधड़ी, विक्टिम को एक नकली वेबसाइट पर ले जाया गया, जहां उन्होंने न केवल राशि खोने का जोखिम उठाया (जो ईमेल में निर्दिष्ट से कहीं ज्यादा हो सकता है) बल्कि उनके बैंक कार्ड के डिटेल्स को भी फैलाने का जोखिम उठाया, “कास्परस्की लैब ने कहा।

 

See also  हरियाणा में कोरोना से अनाथ हुए बच्चों के लिए प्रतिमाह ₹2500 एवं ₹12000 प्रति वर्ष देने की योजना, देखे अभी

बता दें , कि जब यूजर लिंक पर क्लिक करता है तो उसे एक नकली सी वेबसाइट पर ले जाया जाता है । यहां पर उसे छोटा पेमेंट करने के लिए उसकी बैंक डिटेल्स दर्ज करने के लिए कहा जाता है और आपको बता दें , कि ऐसा तब होता है जब ग्राहक को अपने ऑनलाइन ऑर्डर के बारे में कुछ याद नहीं रहता है ।

जब आप amazon या flipkart जैसी बड़ी-बड़ी कंपनियों से कुछ खरीदते हैं । तो आप जानते हैं कि आपने क्या आर्डर किया है और पार्सल आपको कब डिलीवर किया जाएगा ऐसा इसलिए होता है । क्योंकि आपके पास ऐप पर एक ट्रैक्टर होता है जो आपको प्रोडक्ट की लोकेशन के बारे में जानकारी प्रदान करता है । कोई भी कंपनी आप को सुरक्षित डिलीवरी सुनिश्चित करने के लिए कभी भी भुगतान करने के लिए नहीं कहेगी । भले ही आप ने भुगतान के लिए कैश ऑन डिलीवरी मोड ही क्यों ना चुना हो । आर्डर पहले आपको डिलीवर किया जाएगा और फिर आप पेमेंट कर सकते हैं या आप अपने वॉलेट या कार्ड का इस्तेमाल करने से पहले पैसों का पेमेंट कर सकते हैं । कोई अतिरिक्त भुगतान नहीं लिया जाएगा चाहे कुछ भी क्यों ना हो जाए ।

Leave a Reply