Covid-19 New Variant NeoCov : कोरोना के घातक रूप नियोकॉन का खतरा फिलहाल भारत में नहीं, जानिए बड़ी वजह

Covid-19 New Variant NeoCov : वुहान में वैज्ञानिकों ने कोरोना वायरस के नए वेरिएंट NeoCov को लेकर चेतावनी जारी की है। इसके संक्रमण से मृत्यु दर सबसे अधिक है।

Covid-19 New Variant NeoCov

Covid-19 New Variant NeoCov: चीनी शोधकर्ताओं ने दक्षिण अफ्रीका के चमगादड़ों में कोरोनावायरस के एक नए प्रकार, नियोकोव का पता लगाया है। उन्होंने दावा किया है कि इसमें उत्परिवर्तन की अधिक संभावना है। इस बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि इसकी क्षमता को और स्पष्टता की जरूरत है। वहीं, आईडीएफ अध्यक्ष ने दावा किया कि निओकोव से भारत को कोई खतरा नहीं है।

नियोकोव घातक क्यों है?

चीन की वुहान यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों के अनुसार, NeoCov SARS-CoV-2 की तरह ही मानव कोशिकाओं में प्रवेश कर सकता है। यह वायरस मिडिल ईस्ट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम कोरोना वायरस (MERS-Cov) के सबसे करीब है।

See also  Omicron Variant Alert : इम्युनिटी कमजोर होने पर शरीर देता है ये संकेत, न करें नजरअंदाज

घातक वेरिएंट को लेकर जारी की गई चेतावनी

चीन के वुहान शहर, जहां पहली बार 2019 के आखिरी महीनों में कोरोना वायरस का पता चला था, ने अब कोविड वायरस के एक और लेकिन सबसे खतरनाक और घातक रूप के बारे में चेतावनी जारी की है। वुहान के वैज्ञानिकों ने कहा है कि यह एक नया प्रकार है, जिसमें संक्रमण की मृत्यु दर सबसे अधिक है।

SARS-CoV-2 नियोकोव के रूप में

जान लें कि यह वायरस कई साल पहले मध्य पूर्व के देशों में खोजा गया था और यह SARS-CoV-2 के समान है, जो मनुष्यों में कोरोना वायरस का कारण बनता है। जबकि नियोकोव को दक्षिण अफ्रीका में चमगादड़ों में खोजा गया था। हालांकि इस नए वेरिएंट का कोरोना वायरस अब तक सिर्फ जानवरों में ही फैलता देखा गया है।

See also  देश में पहली बार होगा मेट्रो स्टेशन पर टीकाकरण, जुलाई माह से होगी शुरूआत

नियोकोव खतरा नहीं होने का दावा करता है

इंटरनेशनल डायबिटीज फेडरेशन के अध्यक्ष डॉ शशांक जोशी ने ट्वीट किया, ‘नियोकोव रहस्य उजागर: 1. नियोकोव एक पुराना वायरस है जो एमईआरएस कोव से निकटता से संबंधित है। यह DPP4 रिसेप्टर्स के माध्यम से कोशिकाओं में प्रवेश करता है। 2. इस वायरस में क्या है नया: NeoCov चमगादड़ के ACE2 रिसेप्टर्स का इस्तेमाल कर सकता है, लेकिन यह तभी संभव है जब इसमें कोई नया म्यूटेशन हो। इसके अलावा बाकी सब प्रचार है।

हालांकि, डब्ल्यूएचओ के अनुसार, हाल ही में दक्षिण अफ्रीका में चमगादड़ों में खोजा गया NeoCoV कोरोना वायरस इंसानों के लिए खतरा है या नहीं, इस सवाल पर और अध्ययन की जरूरत है।

Leave a Reply