Corona Latest News : अचानक केस बढ़ने पर 5 राज्यों में अलर्ट; गुजरात में XE और XM वैरिएंट के नए मामले मिले

Corona Latest News : चीन और अमेरिका में कोविड के बढ़ते मामलों के बीच स्वास्थ्य मंत्रालय ने पांच राज्यों को चेतावनी जारी की है. केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने दिल्ली, हरियाणा, केरल, महाराष्ट्र और मिजोरम की सरकारों को पत्र लिखा है। इसमें स्वास्थ्य सचिव ने राज्यों से सतर्कता बढ़ाने और संक्रमण की दर बढ़ने के कारणों की गंभीरता से जांच करने को कहा है.

Corona Latest News

Corona Latest News : इस बीच गुजरात में एक व्यक्ति के एक्सई वेरिएंट से संक्रमित होने की खबर आई है। सूत्रों के मुताबिक राज्य में एक्सएम वेरियंट का भी एक मामला सामने आया है। इस हफ्ते की शुरुआत में मुंबई की एक महिला के एक्सई वेरिएंट से संक्रमित होने की खबर आई थी। हालांकि स्वास्थ्य मंत्रालय ने इससे इनकार किया।

See also  PPF Account New Rule 2022 : सरकार ने बदले PPF खाते के नियम, नहीं पढ़े तो होगा बड़ा नुकसान

क्यों चिंता में है केंद्र

स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि इन राज्यों में डेली पॉजीटिविटी रेट बढ़ रहा है, यानी हर दिन मिलने वाले नए कोरोना मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। इसको देखते हुए राज्य सरकारें हालात की गंभीरता से समीक्षा करें और जरूरी होने पर कोविड-19 को लेकर नई गाइडलाइन भी जारी करें।

एक ओर देश में कोरोना मरीजों की संख्या लगातार कम हो रही है, लेकिन दिल्ली, महाराष्ट्र, हरियाणा, केरल और मिजोरम में पिछले सात दिन में पॉजिटिविटी रेट अचानक बढ़ गई है। इसे लेकर ही केंद्र सरकार ने केरल, महाराष्ट्र, दिल्ली, हरियाणा और मिजोरम को अलर्ट भेजा है।

See also  Post Office Jobs : 10वीं पास के लिए पोस्ट ऑफिस में जॉब सैलरी 30,000 रुपये से शुरू करने में देरी न करें

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक पिछले 24 घंटे में केरल में 353, महाराष्ट्र में 113, हरियाणा में 336 और मिजोरम में 123 मामले सामने आए हैं. देश के हालात पर नजर डालें तो पिछले 24 घंटों में कोरोना के 1,109 नए मामले सामने आए, जबकि 43 लोगों की मौत हुई है. गुरुवार को देशभर में कोरोना के 1,033 मामले दर्ज किए गए।

18+ के सभी लोगों को तीसरी खुराक मिलेगी ( Corona Latest News )

कोरोना के नए रूपों के खतरे के बीच सरकार ने घोषणा की है कि 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को 10 अप्रैल से कोरोना वैक्सीन की तीसरी खुराक दी जाएगी. स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसे एहतियाती खुराक नाम दिया है. यह स्वास्थ्य कर्मियों और 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों से नि:शुल्क लगाया जाएगा, जबकि बाकी वयस्कों को भुगतान करना होगा। इसे निजी टीकाकरण केंद्रों पर लगाया जाएगा। यह खुराक केवल उन्हीं लोगों को दी जाएगी जिनकी उम्र 18 वर्ष से अधिक है और जिन्हें दूसरी खुराक 9 महीने या उससे पहले मिली है।