बच्चों के टीकाकरण पर अच्छी खबर! इस आयु वर्ग के बच्चों को लगेंगे मार्च से टीका

नई दिल्ली | देश-दुनिया में कोरोना एक बार फिर लोगों को डरा रहा है, लेकिन इन सबके बीच एक राहत भरी खबर सामने आई है. देश में 15 से 18 साल के किशोरों के लिए टीकाकरण अभियान शुरू हो चुका है और अब 12 से 15 साल के बच्चों के लिए टीकाकरण अभियान मार्च महीने से शुरू होने जा रहा है. नेशनल टेक्निकल एडवाइजरी ग्रुप ऑन इम्यूनाइजेशन (एनटीएजीआई) की बैठक में जल्द ही इस बारे में फैसला लिया जा सकता है।

टीकाकरण में तेजी लाने की तैयारी

15 से 18 वर्ष की आयु के किशोरों का टीकाकरण मार्च तक पूरा होने की उम्मीद है, जिसके बाद 12 से 15 वर्ष के बच्चों के लिए टीकाकरण अभियान शुरू किया जा सकता है। इसके लिए वैक्सीन की उपलब्धता भी पर्याप्त है। ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCFI) से 12 से 15 साल की उम्र के बच्चों के टीकाकरण के लिए भी मंजूरी मिल गई है।

भारत बायोटेक का कोवैक्सिन 12 से 15 साल के बच्चों को दिया जा सकता है। वर्तमान में यही टीका 15 से 18 वर्ष की आयु के किशोरों को दिया जा रहा है। कोविड टास्क फोर्स के अध्यक्ष डॉ. के. अरोड़ा ने कहा कि 15-18 आयु वर्ग की अनुमानित 7.4 करोड़ आबादी में से 3.45 करोड़ से अधिक को अब तक कोवैक्सीन की पहली खुराक मिल चुकी है और उन्हें 28 दिनों में दूसरी खुराक दी जाएगी।

जल्द ही 15-18 आयु वर्ग का टीकाकरण पूरा किया जाएगा

कोविड टास्क फोर्स के अध्यक्ष डॉ एनके अरोड़ा ने कहा कि टीकाकरण अभियान की गति को देखते हुए 15-18 आयु वर्ग के शेष किशोरों को जनवरी के अंत तक पहली खुराक मिलने की संभावना है। उसके बाद फरवरी के अंत तक दूसरी खुराक दिए जाने की उम्मीद है।

डॉ एनके अरोड़ा ने कहा कि 12-15 आयु वर्ग में अनुमानित जनसंख्या का आंकड़ा 7.5 करोड़ है। 15-18 आयु वर्ग की आबादी का टीकाकरण होते ही सरकार मार्च में 12-15 आयु वर्ग की आबादी के लिए टीकाकरण अभियान शुरू करने के बारे में नीतिगत निर्णय ले सकती है।

Leave a Reply