रोडवेज बस मे हुआ बच्चे का जन्म, गर्भवती महिला को जींद से हिसार किया रेफर पहुंच गई रोहतक

हरियाणा | स्वास्थ्य सेवा नहीं मिलने के कारण मूल रूप से उत्तर प्रदेश की रहने वाली 23 वर्षीय रोशनी की हरियाणा रोडवेज में डिलीवरी हो गई. ड्राइवर ने बच्चे और उसकी मां को शहर के नागरिक अस्पताल में पहुंचाया. नवजात बच्चे का वजन 2 पॉइंट 7 किलोग्राम बताया जा रहा है. इस समय जच्चा बच्चा दोनों पूरी तरह स्वस्थ है.

मूल रूप से उत्तर प्रदेश के बांदा जिले के गांव तेरा निवासी बैरमदिन ने बताया कि वह पारिवारिक सदस्यों के साथ जींद जिले के खेमा खेड़ी गांव के पास सतीश ईट भट्टे पर काम करते हैं. वह अपनी पत्नी चंदा, बेटे काशी प्रसाद पुत्र वधू रोशनी के साथ में ही रहते हैं. उनकी पुत्रवधू रोशनी गर्भवती थी. देर रात करीब 12:00 बजे उसे प्रसव पीड़ा शुरू हुई.

See also  हरियाणा रोडवेज़ में महंगा हो सकता है सफर, जानिए वजह

साधन का इंतजाम कर सुबह करीब 5:00 बजे जींद के सरकारी अस्पताल पहुंचे, जहा उपचार नहीं मिला. चिकित्सकों ने उन्हें हिसार के लिए रेफर कर दिया. उन्हें रूट की जानकारी नहीं थी जिस कारण वह जल्दबाजी में रोहतक पहुंच गए, इसके बाद हिसार के लिए रवाना हुए.

बैरमदिन ने बताया कि सरकारी अस्पताल पहुंचने से पहले पुत्र वधू ने बस के अंदर ही शिशु को जन्म दिया. उस समय उसकी सांस और कुनबे की एक महिला पास में थी. बस चालक ने हमारी मदद की वह बस को को नागरिक अस्पताल में ले आया. अस्पताल में आने के बाद बच्चे और उसकी मां को भर्ती करा दिया गया.

See also  Sarso Ka Bhav: मंडियों में पहुंचने से पहले ही ऊंचे भाव पर बिक रही सरसों, मिल रहा यह भाव

आवाज सुनी तो बस साइड में लगाई

हरियाणा रोडवेज रोहतक डिपो के चालक राजू ने बताया कि वह बस को दिल्ली से हिसार लेकर आ रहा था तभी गर्भवती महिला को ज्यादा प्रसव पीड़ा होनी शुरू हो गई. हिसार पहुंचने से पहले दिल्ली हाईवे पर मिर्जापुर मोड़ पर महिला की आवाज सुनी तो बस को साइड में लगा दिया. महिला ने बस में बच्चे को जन्म कराया इसके बाद बिना देरी किए बस को नागरिक अस्पताल ले गए बस के यात्रियों ने भी सहयोग किया.