गांव में मिलने वाले सरकारी राशन के नियम बदले, हर चीज में होगा बदलाव, अभी पढ़े

सरकारी राशन | राशन कार्ड के लिए मानक: राशन कार्ड के लाभार्थियों के लिए एक महत्वपूर्ण खबर है। सरकार ने मुफ्त राशन की अवधि बढ़ा दी है। इस बीच खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण विभाग राशन कार्ड के नियमों में बदलाव कर रहा है.

Haryana News In Hindi

सरकारी राशन की दुकानों से राशन लेने वाले पात्र लोगों के लिए निर्धारित मानकों में बदलाव किया गया है। नए मानक का मसौदा अब लगभग तैयार है। इतना ही नहीं इस संबंध में राज्य सरकारों के साथ कई दौर की बैठक भी हो चुकी है। आइए जानते हैं कि नए प्रावधान में क्या होगा।

अमीर लोग भी उठा रहे हैं फायदा

खाद्य और सार्वजनिक वितरण विभाग के अनुसार, वर्तमान में देश भर में 80 करोड़ लोग राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (NFSA) का लाभ उठा रहे हैं। इनमें कई ऐसे लोग भी हैं जो आर्थिक रूप से संपन्न हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए सार्वजनिक वितरण मंत्रालय मानकों में बदलाव करने जा रहा है। दरअसल, अब नए मानक को पूरी तरह से पारदर्शी बनाया जाएगा ताकि कोई गड़बड़ी न हो सके।

क्यों हो रहे हैं बदलाव

इस संबंध में खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण विभाग ने कहा कि मानकों में बदलाव को लेकर राज्यों के साथ बैठक की जा रही है. राज्यों द्वारा दिए गए सुझावों को शामिल करते हुए पात्रों के लिए नए मानक तैयार किए जा रहे हैं। जल्द ही इन मानकों को अंतिम रूप दिया जाएगा। नए मानक के लागू होने के बाद पात्र व्यक्तियों को ही लाभ मिलेगा, अपात्र लोगों को लाभ नहीं मिल पाएगा। यह बदलाव जरूरतमंदों को ध्यान में रखकर किया जा रहा है।

एक राष्ट्र, एक राशन कार्ड योजना

खाद्य और सार्वजनिक वितरण विभाग के अनुसार, अब तक 32 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में ‘वन नेशन, वन राशन कार्ड (ONORC) योजना’ लागू की गई है। एनएफएसए के तहत आने वाले करोड़ों लाभार्थी यानी 86 फीसदी आबादी इस योजना का लाभ उठा रही है। हर महीने करीब 1.5 करोड़ लोग एक जगह से दूसरी जगह जाकर इसका फायदा उठा रहे हैं.