अमृतसर-जामनगर ग्रीनफील्ड कॉरिडोर होगा सितंबर 2023 तक तैयार, इन 4 राज्यों का होगा फायदा

अमृतसर-जामनगर ग्रीनफील्ड कॉरिडोर | NHAI द्वारा विकसित किया जा रहा अमृतसर-जामनगर ग्रीनफील्ड कॉरिडोर सितंबर 2023 तक पूरा हो जाएगा. जिससे ईधन की लागत में कमी तथा समय की बचत होगी. केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने एक कार्यक्रम के दौरान कही.

हर रोज की ताजा खबर | जॉब | योजना की सबसे पहले अपडेट पाने के लिए आप हमारे व्हाट्सएप और टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ सकते है- Join Whatsapp Group | Join Telegram Group 

277 किलोमीटर बीकानेर से जोधपुर खंड का काम इस साल के अंत तक पूरा किया जाएगा तथा जल्द ही जनता के लिए खोलने का लक्ष्य रखा गया हैं. 1,224 किलोमीटर लंबा अमृतसर-भटिंडा-जामनगर कॉरिडोर 26,000 करोड़ रुपये की कुल लागत से विकसित किया जाएगा.

See also  Delhi-Mumbai Expressway: दिसंबर से शुरू होगी गुरुग्राम-दौसा के बीच आवाजाही, सिर्फ 2 घंटे में 250 km का सफर होगा पूरा

इन चार राज्यों पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और गुजरात के बड़े शहर अमृतसर, भटिंडा, संगरिया, बीकानेर, सांचोर, समाखियाली और जामनगर जैसे बड़े तथा आर्थिक रूप से विकसित शहरों को जोड़ेगा तथा लोग आसानी से एक जगह से दूसरी जगह कम समय में पहुंच सकते हैं.

हर रोज की ताजा खबर | जॉब | योजना की सबसे पहले अपडेट पाने के लिए आप हमारे व्हाट्सएप और टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ सकते है- Join Whatsapp Group | Join Telegram Group 

गडकरी ने कहा कि दिल्ली-अमृतसर-कटरा एक्सप्रेसवे कॉरिडोर देश के उत्तरी औद्योगिक और कृषि केंद्रों को जामनगर और कांडला जैसे पश्चिमी भारत के प्रमुख बंदरगाहों से जोड़ेगा. जिससे औद्योगिक क्रांति को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी. बद्दी, भटिंडा और लुधियाना के औद्योगिक क्षेत्रों को स्पर्स और जम्मू-कश्मीर के माध्यम से जोड़ने में मदद मिलेगी. उन्होंने यह भी कहा कि ट्रांस-राजस्थान कॉरिडोर से पारगमन समय और ईंधन की रसद लागत में काफी कमी आएगी.